फतेहाबाद: फैक्ट्री में सीएम फ्लाइंग का छापा, अलग-अलग ब्रांड का नकली देसी घी बरामद

नकली देसी घी बनाने वाली फैक्ट्री का भंडाफोड़
नकली देसी घी बनाने वाली फैक्ट्री का भंडाफोड़

सीएम फ्लाइंग की टीम ने फैक्ट्री से बरामद पूरा सामान अपने कब्जे ले लिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 18, 2020, 3:07 PM IST
  • Share this:
फतेहाबाद. सीएम फ्लाइंग की टीम ने फतेहाबाद में देसी घी बनाने वाली एक फैक्ट्री पर बीती देर रात को छापा मारा. टीम ने इस फैक्ट्री से बड़ी मात्रा में तैयार घी, रिफाइंड ऑयल, वनस्पति ऑयल, केमिकल तथा देसी घी की गंध देने वाला केमिकल भी बरामद किया है. इसके साथ ही टीम ने हजारों की संख्या में विभिन्न मार्कों के खाली डिब्बे, रेपर और केन बरामद किए हैं जिनमें घी को पैक कर अलग अलग नाम से बाजार में बेचा जाता था.

फूड सेफ्टी विभाग के इंस्पेक्टर ने यह जानकारी देते हुए बताया कि सीएम फ्लाइंग टीम, फूड सेफ्टी विभाग, स्थानीय पुलिस और फूड एंड सप्लाई विभाग ने संयुक्त रूप से इस फैक्ट्री पर कार्रवाई करते हुए यहां बड़ी अनियमितताएं पकड़ी हैं. उन्होंने बताया कि फैक्टरी संचालक के पास फैक्ट्री चलाने और घी बनाने का लाइसेंस ही नहीं थी बल्कि उसके पास रिपैकिंग का एक लाइसेंस था जोकि बहुत पहले ही एक्सपायर हो चुका था, लेकिन नियमों को ताक पर रख कर लंबे समय से यहां फैक्ट्री चलाई जा रही थी.

फैक्ट्री में बनाया जा रहा था घी नकली थी या निम्न दर्जे का था इसकी जांच के लिए विभाग की टीम ने फैक्ट्री से सभी पदार्थों के नमूने ले लिए हैं और उन्हें जांच के लिए भेज दिया है. सीएम फ्लाइंग की टीम ने फैक्ट्री से बरामद पूरा सामान अपने कब्जे ले लिया है और आगे की कार्रवाई की जा रही है.



सीएम फ्लाइंग की टीम द्वारा इलाके में छापामार कार्रवाई कर देसी घी की फैक्ट्री को पकडऩा इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ है. वहीं एक सवाल भी खड़ा हो रहा है कि अगर फैक्टरी लंबे समय से यहां चल रही थी और सभी नियमों को ताक पर रखा जा रहा था, तो ऐसे में स्थानीय प्रशासन को पहले जानकारी नहीं मिल पाई, अगर प्रशासन के पास जानकारी थी तो, पहले कार्रवाई क्यूं नहीं हुई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज