हरियाणा: पराली का सर्वे करने आई कृषि विभाग की टीम को किसानों ने बनाया बंधक

प्रशासन की समझाइश के बाद मामला सुलझा.

हरियाणा के टोहाना इलाके में पराली (Parali) जलाने की सूचना मिलने पर  सर्वे करने पहुंची कृषि विभाग (Agriculture Department) की टीम को किसानों ने बंधक बना लिया.

  • Share this:
फतेहाबाद. हरियाणा के टोहाना विधानसभा के जाखल नगर पालिका के गांव मुंदलियां में किसानों ने कृषि विभाग (Agriculture Department) के 5 अधिकारियों को 2 घण्टे तक बंधक बनाया. घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस और प्रशासन की टीम मौके पर पहुंची. अधिकारियों ने किसानों को समझा-बुझाकर बंधक बनाए गए कृषि विभाग की टीम को छुड़वाया. बता दें कि कृषि विभाग को सेटेलाइट के माध्यम से धान की पराली (Parali) को आग लगाने की सूचना मिली थी. उसी के आधार पर कृषि विभाग की टीम मौके का सर्वे करने के लिए गांव मुंदलियाँ पहुंची थी.

आरोप है कि ग्रामीणों ने कृषि विभाग अधिकारी एसडीओ अजय कुमार ढिल्लों,  धर्मवीर कृषि विभाग अधिकारी,पटवारी राजपाल ,राजकुमार सचिव और एक अन्य कर्मचारी को 2 घण्टे तक बंधक बनाए रखा. वहीं किसानों की मानें तो बीते दिनों जाखल ब्लॉक के गांव के मुख्य लोगों की अधिकारियों के साथ एक सयुंक्त बैठक हुई थी. इस बैठक में यह तय हुआ था कि किसान पराली को आग न लगाएं.

ये भी पढ़ें: कांग्रेस नेता उमंग सिंघार का आरोप, ज्योतिरादित्य सिंधिया ने 50 करोड़ और मंत्री पद का दिया था ऑफर

किसानों ने लगाय आरोप

किसानों का कहना है कि इस बैठक में कृषि विभाग की ओर से पराली की गांठे बनाने का प्रबंध किए जाने की बात कही गई थी, लेकिन 3 दिन बीत जाने के बाद भी विभाग की ओर से कोई पुख्ता प्रबंध नहीं करवाए गए हैं. गेहूं की बिजाई का समय बीत रहा है, लेकिन अभी तक संबंधित विभाग की ओर से कोई प्रबंध न होने के कारण मजबूरन किसानों को धान पराली को आग लगानी पड़ रही है. उन्होंने कहा सरकार और प्रशासन अपनी नाकामी का ठीकरा किसानों के सिर फोड़ने का प्रयास कर रही है. अगर समय रहते संबंधित विभाग द्वारा किसानों को पराली प्रबंधन के लिए संसाधन उपलब्ध करवाए जाते तो आग लगाने की नौबत नहीं आती.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.