लाइव टीवी

पराली जलाने के मामले में प्रशासन सख्त, 14 गांवों के सरपंचों को जारी किया नोटिस

Jaspal Singh | News18 Haryana
Updated: November 6, 2019, 5:17 PM IST
पराली जलाने के मामले में प्रशासन सख्त, 14 गांवों के सरपंचों को जारी किया नोटिस
हरियाणा में खेत में किसानों के पराली जलाने पर रोक लागू है (प्रतीकात्मक तस्वीर)

इस वर्ष जिले में 16 ऐसे गांव भी सामने आए हैं जहां एक भी मामला पराली जलाने का अब तक सामने नहीं आया है.

  • Share this:
फतेहाबाद. सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) की सख्ती के बाद जिला प्रशासन भी पराली (Stubble) जलाने वालों के खिलाफ सख्ती करता नजर आ रहा है. पराली जलाने वाले किसानों (Farmers) के विरूद्ध मामला दर्ज करवाने के बाद अब प्रशासन उन गांवों के सरपंचों, नंबरदारों और पटवारियों को भी नोटिस जारी कर रहा है जिन गांवों में पराली जलाने के मामले अधिक आए हैं.

प्रशासन द्वारा 14 गांवों के सरपंचों को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है जहां पराली जलाए जाने के सर्वाधिक मामले सामने आए हैं. साथ ही उन किसानों के असले भी रद्द किए जाएंगे जिनके विरूद्ध पराली जलाने के मामले में एफआईआर दर्ज हो चुकी है. फतेहाबाद के उपायुक्त ने आज एक प्रैस वार्ता के दौरान जानकारी देते हुए बताया कि पराली जलाने के मामले में फतेहाबाद जिले में पिछले वर्ष की तुलना में 50 प्रतिशत कमी आई है.

पिछले साल की तुलना पराली जलाने के मामलों में आई कमी

पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष एक्टिव फायर लोकेशन प्रतिशत कम सामने आई है. पिछले वर्ष 13 से अधिक केस पराली जलाने के सामने आए थे जबकि इस वर्ष अब तक 600 के करीब ही केस सामने आए हैं. उन्होंने बताया कि पराली जलाने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए इस बार अब तक कुल 190 मामले दर्ज किए जा चुके हैं.

16 गांवों में सामने नहीं आया पराली जलाने का एक भी मामला

वहीं उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि इस वर्ष जिले में 16 ऐसे गांव भी सामने आए हैं जहां एक भी मामला पराली जलाने का अब तक सामने नहीं आया है. उन्होंने कहा कि ऐसे गांवों और गांवों की पंचायतों को प्रोत्साहित करने के लिए उनका सम्मान किया जाएगा और डी प्लान के तहत 20 लाख रुपए की राशि गांव के विकास कार्यों के लिए अलग से दी जाएगी.

किसानों से की अपील
Loading...

उन्होंने किसानों से अपील करते हुए कहा कि वे अपनी पराली न जलाएं और इसका उचित ढंग से प्रबंधन करें. सरकार ने बेलर मशीनें भी उपलब्ध करवा रखी है जिसके इस्तेमाल से पराली को जलाने से बचाया जा सकता है. यह पराली पशुओं के चारे के रूप में काम कर सकती है.

ये भी पढ़ें - हरियाणा में फिर होगा जाट आरक्षण आंदोलन! जाटों ने BJP-JJP सरकार से की ये मांग

ये भी पढ़ें - सिरसा : ट्रक ने बाइक को मारी टक्कर, सवार पति-पत्नी की मौके पर मौत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फतेहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 6, 2019, 5:05 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...