लाइव टीवी

फतेहाबाद : पराली जलाने से खतरनाक स्तर पर पहुंचा वायु प्रदूषण

Jaspal Singh | News18 Haryana
Updated: November 2, 2019, 11:55 PM IST
फतेहाबाद : पराली जलाने से खतरनाक स्तर पर पहुंचा वायु प्रदूषण
फतेहाबाद- सफेद जहरीले धुंए की चादर में लिपटा शहर

हृदय और सांस के रोगियों को अपनी दवाएं हमेशा साथ रखनी चाहिए, क्योंकि इन हालातों में कभी भी आपात परिस्थिति बन सकती है.

  • Share this:
फतेहाबाद. हरियाणा के फतेहाबाद (Fatehabad) में वायु प्रदूषण (Air Pollution) का स्तर अपने अधिकतम स्तर तक पहुंच गया है. हालात बेहद खतरनाक बने हुए हैं. पराली जलाने (Burning Straw) से निकलने वाले धुएं ने पूरे शहर को अपने आगोश में ले लिया है. यहां रहने वाले लोगों के हालत बद से बदतर होते जा रहे है. गले में दर्द, आंखों में जलन, सांस लेने में तकलीफ जैसी समस्याओं को लेकर लोग अब अस्पतालों में पहुंचने लगे हैं. फतेहाबाद में प्रदूषण का स्तर 470 को भी क्रास कर गया है. इस स्थिति को बेहद खतरनाक बताया जा रहा है.

बच्चे भी हुए बेहाल

चिकित्सक भी स्वस्थ आदमी के लिए इस स्थिति को बेहद खराब मान रहे हैं. चिकित्सकों की सलाह है कि ऐसी स्थिति में लोग अपने घरों से बाहर न निकलें. हृदय और सांस के रोगियों को अपनी दवाएं हमेशा साथ रखनी चाहिए, क्योंकि इन हालातों में कभी भी आपात परिस्थिति बन सकती है. वहीं लगातार बढ़ते दमघोटू प्रदूषण के कारण स्कूल जाने वाले बच्चे भी बेहाल हैं.

सुबह सवेरे मौसम में नमी और धुएं के कारण प्रदूषण का स्तर अत्यधिक बढ़ा हुआ होता है. इस कारण छोटे बच्चों को बीमारियां लगने का भी खतरा बन गया है. आज बच्चे मुंह पर मास्क लगाए स्कूल जाते भी देखे गए हैं. स्कूली बच्चों का कहना था कि प्रदूषण के कारण उनकी आंखों में बुरी तरह से जलन हो रही है. स्कूल में बैठकर पढऩा भी उनके लिए मुश्किल हो रहा है. आंखों में जलन के बाद सिर में दर्द भी बढ़ता जा रहा है. जानकारों का मानना है कि पिछले दो दिनों से पराली जलाने के मामलों में बढोतरी हुई है. किसान अपने खेतों में पड़ी पराली को नष्ट कर देना चाहते हैं.

ये भी पढ़ें - हरियाणा में नेता विपक्ष पर 2 धड़ों में बंटी कांग्रेस, सोनिया का हुड्डा पर मुहर

ये भी पढ़ें - पुलिस ने 30 जुआरियों को दबोचा, डेढ़ लाख रुपये बरामद

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फतेहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 2, 2019, 11:55 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...