Home /News /haryana /

fatehabad dhingsara honour killing case 16 convicts sentence life imprisonment nodvm

Honor Killing Case: ढिंगसरा ऑनर किलिंग मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, सभी 16 दोषियों को आजीवन कारावास

ढिंगसरा ऑनर किलिंग मामले में 16 दोषियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई है. (सांकेतिक फोटो)

ढिंगसरा ऑनर किलिंग मामले में 16 दोषियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई है. (सांकेतिक फोटो)

Honor Killing Case: गांव डोबी के धर्मबीर ने शीशवाल गांव में मामा के घर रह रही सुनीता के साथ अंतरजातीय प्रेम विवाह किया था. इससे गुस्साए सुनीता के परिजनों और रिश्तेदारों ने धर्मबीर की तड़पा-तड़पा कर बर्बर तरीके से हत्या कर दी थी. सभी दोषियों को कोर्ट ने 16 मार्च को दोषी करार दिया था.

अधिक पढ़ें ...

फतेहाबाद. फतेहाबाद के गांव ढिंगसरा के बहुचर्चित ऑनर किलिंग (Dhingsara Honour Killing Case) मामले में सभी 16 दोषियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. इस मामले में सुंदरलाल, शेर सिंह, बलवान, विक्रम, भंवर सिंह उर्फ भंवरा, बलराज सिंह, नेकीराम, रवि, धर्मपाल उर्फ जागर, रवि, दलबीर, सुरजीत, श्रीराम, साहबराम, वेदप्रकाश, वीरूराम, विनोद कुमार, बलबीर सिंह के खिलाफ आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया था. अदालत ने दोषियों को आईपीसी की धारा 120बी, धारा 148, धारा 285, धारा 452, धारा 64 और धारा 201 के तहत सजा सुनाई है. वहीं इस मामले में एक आरोपी श्रीराम की कोर्ट ट्रायल के दौरान मौत हो चुकी है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, गांव डोबी के धर्मबीर ने शीशवाल गांव में मामा के घर रह रही सुनीता के साथ अंतरजातीय प्रेम विवाह किया था. इससे गुस्साए सुनीता के परिजनों और रिश्तेदारों ने धर्मबीर की तड़पा-तड़पा कर बर्बर तरीके से हत्या कर दी थी. सभी दोषियों को कोर्ट ने 16 मार्च को दोषी करार दिया था. हिसार के डोबी गांव का रहने वाला धर्मबीर प्राइवेट बस पर ड्राइवर था. वहीं गांव मंगाली की सुनीता अपने मामा के घर हिसार के गांव शीशवाल में रहती थी. वह बस से आदमपुर पढऩे जाती थी. धर्मबीर-सुनीता का प्यार यहीं से परवान चढ़ा. दोनों की जाति अलग-अलग थी और परिजन उनकी शादी को तैयार नहीं हुए.

धर्मबीर के मामा ने पुलिस में शिकायत दी थी
धर्मबीर-सुनीता ने मार्च 2018 में घर से भाग कर सिरसा के छत्तरपट्टी मंदिर में लव मैरिज कर ली. सिरसा कोर्ट में दोनों ने सुरक्षा मांगी तो उनको सेफ हाउस भेज दिया गया. सुनीता की शादी से उसके परिजन भड़के हुए थे. कुछ दिन सेफ हाउस में रहने के बाद धर्मबीर अपने मामा के पास ढिंगसरा चला गया. 1 जून 2018 को युवती के परिजन ढिंगसरा गांव पहुंचे और वहां पर हवाई फायर कर धर्मबीर और सुनीता का अपहरण कर लिया. इसके बाद धर्मबीर के मामा ने पुलिस में शिकायत दी थी.

सिद्धमुख नहर से बरामद हुआ था
पुलिस ने युवती को शीशवाल से बरामद किया था, लेकिन युवक का कहीं कोई अता-पता नहीं चला था. पुलिस ने बाद में मामले का खुलासा किया था, जिसमें पता चला था कि दोषी धर्मबीर को गांव शीशवाल में टयूब्वेल पर ले गए और यहां पर रबड़ के पट्टों व डंडों से पीट-पीटकर उसकी निर्ममता से हत्या कर दी. बाद में धर्मबीर का शव राजस्थान के भादरा से सिद्धमुख नहर से बरामद हुआ था.

ट्रायल के दौरान मौत हो गई
भट्टूकलां पुलिस थाना में 1 जून 2018 को ढिंगसरा निवासी रायसिंह की शिकायत पर उसके भांजे धर्मबीर की हत्या के आरोप में सुंदरलाल, शेर सिंह, बलवान, विक्रम, भंवर सिंह उर्फ भंवरा, बलराज सिंह, नेकीराम, रवि, धर्मपाल उर्फ जागर, रवि, दलबीर, सुरजीत, श्रीराम, साहबराम, वेदप्रकाश, वीरूराम, विनोद कुमार, बलबीर सिंह के खिलाफ आईपीसी की धारा 146, 149, 285, &64, 452, &02, 201, 120बी व आम्र्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया था. इन 17 आरोपियों में से श्रीराम की कोर्ट ट्रायल के दौरान मौत हो गई है.

Tags: Haryana news, Honour killing, Murder case

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर