Home /News /haryana /

हरियाणा: फतेहाबाद में किसान जलाने लगे पराली, सैटेलाइट से मिली 5 जगहों की लोकेशन, कार्रवाई शुरू

हरियाणा: फतेहाबाद में किसान जलाने लगे पराली, सैटेलाइट से मिली 5 जगहों की लोकेशन, कार्रवाई शुरू

उनका मानना है कि इस वर्ष पराली प्रबंधन के लिए पहले से अधिक कृषि उपकरण मुहैया करवाए गए हैं (सांकेतिक तस्वीर)

उनका मानना है कि इस वर्ष पराली प्रबंधन के लिए पहले से अधिक कृषि उपकरण मुहैया करवाए गए हैं (सांकेतिक तस्वीर)

सेटेलाइट (Stellite) ने पांच जगहों पर आगजनी की तस्वीरें दिखाई हैं. वहीं, कृषि विभाग द्वारा फिजिकल वेरिफिकेशन में 3 जगहों पर आग पुष्टि की गई है.

फतेहाबाद. हरियाणा (Haryana) के फतेहाबाद में धान की कटाई के साथ ही पराली जलाने (Stubble Burning) का सिलसिला शुरू हो गया है. जिले में अब तक पांच स्थानों पर एक्टिव फायर लोकेशन मिली है. जबिक, सैटेलाइट से नजर रखी जा रही है. जानकारी के मुताबिक, सैटेलाइट (Stellite) ने पांच जगहों पर आगजनी की तस्वीरें दिखाई हैं. वहीं, कृषि विभाग द्वारा फिजिकल वेरिफिकेशन में 3 जगहों पर आग पुष्टि की गई है. इसके बाद प्रशासन ने आग लगाने वालों पर जुर्माना किया है. हालांकि, पिछले वर्ष की तुलना में अब तक पराली जलाने के मामले कम आए हैं. जिला प्रशासन लगातार स्थिति पर नजर रख रहा है.

दरअसल, पराली की जिन्न एक बार फिर से बोतल से बाहर आता दिखाई दे रहा है. पिछले कई वर्षों से धान की पराली शासन और प्रशासन के लिए किसी मुसीबत से कम नहीं बनी हुई. धान की कटाई का सीजन शुरु होते ही खेतों में पराली के जलने का सिलसिला एक बार फिर से शुरु होता नजर आ रहा है. हालांकि पिछले वर्ष की तुलना में फिलहाल पराली जलाने वालों की संख्या कहीं कम है. मगर जहां भी पराली जली है वहां की लोकेशन डिटेक्ट कर सैटेलाइट ने जिला प्रशासन के पास भेजी दी है. जिला प्रशासन के पास फिलहाल पांच स्थानों पर पराली में आग लगाए जाने की सूचना हरसेक सैटेलाइट द्वारा मिली है.

इसलिए पराली जलाने के मामले कम नजर आएंगे
इन लोकेशनस पर फिजिकल वेरिफिकेशन करने के बाद 3 स्थानों पर पराली में आग लगाए जाने की पुष्टि भी हो चुकी है. कृषि विभाग के अनुसार, इस वर्ष अब तक पिछले वर्ष की तुलना में कम मामले सामने आए हैं. उनका मानना है कि इस वर्ष पराली प्रबंधन के लिए पहले से अधिक कृषि उपकरण मुहैया करवाए गए हैं और किसानों को जागरुक भी किया गया है. इसलिए पराली जलाने के मामले कम नजर आएंगे.

बारीकि से नजर रखी जा रही है
कृषि विभाग के उपनिदेशक ने बताया कि पिछले वर्ष पराली में आग लगाने वालों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए 410 लोगों का चालान कर करीब 10 लाख 47 हजार से अधिक का जुर्माना वसूला गया था. जबकि 233 लोगों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज करवाई गई थी. उन्होंने बताया कि इस वर्ष भी प्रशासन की ओर पराली में आग लगाने वाले स्थानों को चिह्नित कर उन्हें रेड, ओरेंज और येलो जोन में बांटा गया है और इन पर बारीकि से नजर रखी जा रही है.

Tags: Fatehabad news, Haryana news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर