लाइव टीवी
Elec-widget

हरियाणा पुलिस का जवान 50 हजार रुपये रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार

Jaspal Singh | News18 Haryana
Updated: November 14, 2019, 5:19 PM IST
हरियाणा पुलिस का जवान 50 हजार रुपये रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार
50 हजार की रिश्वत लेते पुलिस कर्मी गिरफ्तार

जैसे ही संदीप ने राजू से रुपये पकड़े, विजिलेंस टीम के इंचार्ज इंस्पेक्टर कुलवंत सिंह, सब इंस्पैक्टर जयचंद व एएसआई सतबीर ने संदीप को दबोच लिया. विजिलेंस ने पाऊडर लगे नोट भी बरामद कर मुकदमा दर्ज कर दिया.

  • Share this:
फतेहाबाद. डीजी विजिलेंस के निर्देश पर बुधवार को विजिलेंस गुरुग्राम (Gurugram) और रेवाड़ी (Rewari) की टीम ने फतेहाबाद (Fatehabad) में रेड कर हरियाणा पुलिस (Haryana Police) के सिपाही संदीप सिंह पुत्र राम कुमार निवासी बिठमड़ा को 50 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है. विजिलेंस (Vigilance) ने सिपाही की रिट्ज कार को भी जब्त कर लिया है.

विजिलेंस ने ड्यूटी मैजिस्ट्रेट तहसीलदार विजय कुमार की मौजूदगी में शिकायतकर्ता राजीव उर्फ राजू पुत्र रणधीर निवासी रोजखेड़ा (उचाना) की शिकायत पर भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया है. इस पूरे मामले में सीआईए रतिया के कर्मचारियों के हाथ भी रंगे हुए हैं. आरोपी संदीप कुमार फिलहाल हिमाचल के सराहन में रिपीटर स्टेशन की ड्यूटी पर कार्यरत है.

शिकायतकर्ता राजीव उर्फ राजू सिरसा क्षेत्र में पशुओं का प्राइवेट तौर पर इलाज करता है. उल्लेखनीय है कि सीआईए रतिया ने 2 अगस्त को अमानी निवासी दलजीत  उर्फ दर्शन को नशीले पदार्थ के साथ पकड़ा था. दर्शन ने पूछताछ में पुलिस को बताया था वह यह माल रोजरखेड़ा निवासी राजू से लाया था. राजू का आरोप है कि सीआईए इंचार्ज हरपाल सिंह 6 अगस्त को पुलिस पार्टी के साथ उसकी गैरहाजिरी में उसके घर आया और अपना फोन नम्बर देकर आया और मामला निपटाने के लिए बात करवाने को कहा.

राजू का आरोप है कि जब उसने हरपाल से बात की तो उसने सिपाही संदीप का नम्बर देकर कहा कि संदीप ही इस मामले में डील करेगा. जब उसने संदीप से बात की तो संदीप ने उससे 10 लाख की मांग की मगर उनका 4 लाख में सौदा तय हो गया. संदीप ने उसे 14 अगस्त को सीआईए रतिया आफिस में बुला लिया और अगली बार पैसे लेकर आने को कहा. वह 25 अगस्त को डेढ़ लाख रुपये लेकर सीआईए रतिया पहुंचा तो उससे रुपये लेकर संदीप ने हरपाल व कम्प्यूटर ऑपरेटर में बांट दिए और अगले दिन फिर आने को कहा.

पीड़ित को ऐसे किया परेशान

जब वह सीआईए पहुंचा तो उसे टोहाना ले जाकर गिरफ्तारी डाल दी गई. जब वह घर नहीं लौटा तो उसके परिजनों ने संदीप से बात की. संदीप ने कहा उस पर अभी कई मामले हैं, इसलिए उसे सिंगापुर भेज दिया है. राजू का कहना है कि उसने किसी तरह जेल से घर संदेश भिजवाया कि वह जेल में है. राजीव की 22 अक्तूबर को हाईकोर्ट से जमानत हो गई. पीछे से संदीप उसकी पत्नी से फोन पर गलत बात और संदेश भेजता रहा और  कहता रहा कि मेरा अहसान उतार दो. उसके कहने पर राजू के साले ने किसी किरण के खाते में 51 हजार भी डलवा दिए।

पीड़ित से की 5 लाख की डिमांड
Loading...

राजू का आरोप है कि 25 अक्तूबर को संदीप उनके घर आया और बाकी 5 लाख की डिमांड करने लगा. उन्होंने मामले की जानकारी हिसार व सिरसा विजिलेंस को दी मगर उन्होंने कार्रवाई से इनकार कर दिया. मजबूरन उसने टोल फ्री नम्बर पर डीजी विजीलैंस से बात की. उसे रिवाड़ी में इंस्पेक्टर के पास भेजा गया.

विजिलेंस टीम ने रंगेहाथों पकड़ा

संदीप बुधवार रात भी उनके घर आया तो विजिलेंस के निर्देश पर गुरुवार को पेमेंट देने के लिए कोर्ट के बाहर बुलाया गया. जैसे ही संदीप ने राजू से रुपये पकड़े, विजिलेंस टीम के इंचार्ज इंस्पेक्टर कुलवंत सिंह, सब इंस्पेक्टर जयचंद व एएसआई सतबीर ने संदीप को दबोच लिया. विजिलेंस ने पाऊडर लगे नोट भी बरामद कर मुकदमा दर्ज कर दिया.

ये भी पढ़ें-

युवक ने अपने ही परिवार के 4 सदस्यों को मारी गोली, फिर खुद किया सुसाइड

खट्टर सरकार 2.0 का हुआ विस्तार, 6 विधायक बने कैबिनेट मंत्री, 4 ने राज्यमंत्री के रुप में ली शपथ

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फतेहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 14, 2019, 5:19 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...