फतेहाबाद: बरसात के कारण मकान की छत गिरी, बाल-बाल बचा परिवार, मलबे में दबा सामान

आफत की बारिश

आफत की बारिश

वर्षों से शहर में जलभराव व सीवरेज ओवरफ्लो की समस्या ज्यों की त्यों बनी हुई है. शासन व प्रशासन (Administration) बदलते रहे लेकिन इस समस्या का समाधान नहीं हुआ.

  • Share this:
फतेहाबाद. टोहाना में पिछले 2 दिन से लगातार हो रही भारी बरसात के कारण दमकोर रोड स्थित मसाला फैक्ट्री में एक मजदूर परिवार के मकान की छत गिरने से सारा समान मलबे में दबकर नष्ट हो गया है. जिस समय छत गिरी उस समय परिवार (Family) का कोई भी सदस्य छत के नीचे नहीं था. इसके अलावा अगर यह घटना रात के समय होती तो हादसा (Accident) बड़ा हो सकता था. क्योंकि परिवार के सभी सदस्य इसी कमरे में सोए हुए थे.

परिवार के पास सर ढकने के लिए एकमात्र छत का सहारा था वह भी छिन गया तथा कमरे में रखा सामान बेड, चारपाई और अन्य रोजमर्रा की जरूरत का सामान मलबे में दबकर नष्ट हो चुका है. परिवार ने सरकार व प्रशासन से सहायता की गुहार लगाई है.

शहर में चारों ओर भरा पानी

इसके अलावा शहर में बरसाती पानी की निकासी न होने से शहर के चारों ओर पानी भरा हुआ है. सड़कों ने झील का रूप धारण कर लिया है. लोगों में सरकार व प्रशासन के प्रति रोष है. वर्षों से शहर में जलभराव व सीवरेज ओवरफ्लो की समस्या ज्यों की त्यों बनी हुई है. शासन व प्रशासन बदलते रहे लेकिन इस समस्या का समाधान नहीं हुआ.
जलभराव की समस्या से लोग परेशान

प्रत्येक विधानसभा चुनाव में सीवरेज और बरसाती पानी की निकासी का मुद्दा अहम रहा है. लेकिन चुनाव का समय बीत जाने के बाद यह मुद्दा ठंडे बस्ते में चल जाता है. शहरवासी इस उम्मीद के साथ बदलाव करते हैं की शहर की बदहाली की कोई सुध लेगा लेकिन शहरवासियों की उम्मीदों पर अभी तक कोई भी विधायक व मंत्री खरा नहीं उतर पाया है. शहर में जलभराव की समस्या लोगों के गले की फांस बनी हुई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज