होम /न्यूज /हरियाणा /

लिंगानुपात में फतेहाबाद हरियाणा में अव्वल, 1 हजार लड़कों के मुकाबले 987 बेटियों का जन्म

लिंगानुपात में फतेहाबाद हरियाणा में अव्वल, 1 हजार लड़कों के मुकाबले 987 बेटियों का जन्म

 हरियाणा के फतेहाबाद में लाडो (बेटी) को मिल रहे भरपूर लाड का ही नतीजा है कि लिंगानुपात में फतेहाबाद जिला पूरे प्रदेश में अव्वल आया है.

हरियाणा के फतेहाबाद में लाडो (बेटी) को मिल रहे भरपूर लाड का ही नतीजा है कि लिंगानुपात में फतेहाबाद जिला पूरे प्रदेश में अव्वल आया है.

Boy girl birth ratio in Haryana: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ मुहिम रंग ला रही है. हरियाणा के फतेहाबाद में लाडो (बेटी) को मिल रहे भरपूर लाड का ही नतीजा है कि लिंगानुपात में फतेहाबाद जिला पूरे प्रदेश में अव्वल आया है. यहां एक हजार लड़कों के पीछे 987 लड़कियों ने लिया जन्म लिया है.

अधिक पढ़ें ...

फतेहाबाद. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ मुहिम रंग ला रही है. हरियाणा के फतेहाबाद में लाडो (बेटी) को मिल रहे भरपूर लाड का ही नतीजा है कि लिंगानुपात में फतेहाबाद जिला पूरे प्रदेश में अव्वल आया है. यहां एक हजार लड़कों के पीछे 987 लड़कियों ने लिया जन्म लिया है. फतेहाबाद डीसी ने स्वास्थ्य विभाग सहित इस कार्य से जुड़े अन्य विभागों को भी बधाई दी है. अब बेटियों के इस अनुपात को और आगे बढ़ाये जाने के प्रयास किए जाने की बात कही गई है.

‘न आना इस देश मेरी लाडो’ ये कलंक अब प्रदेश के मात्थे से धुलता जा रहा है और बेटियों के जन्म मामले में प्रदेश की तस्वीर अब बदलती जा रही है. प्रदेश में बेटियों को भरपूर प्यार और लाड मिल रहा है. हरियाणा के फतेहाबाद में इस वर्ष 1000 लड़कों के पीछे 987 बेटियों ने जन्म लिया है और इस मामले में फतेहाबाद जिला पूरे प्रदेश में अव्वल रहा. वहीं हरियाणा प्रदेश का लिंगानुपात 916 रहा है. सबसे कम लगानुपात फरीदाबाद का है, जोकि 879 है. अन्य जिलों की तुलना में बेटियों से लाड के मामले में फतेहाबाद सबसे आगे है.

जागरुकता कार्यक्रमों से मिला फायदा
इस बारे में जानकारी देते हुए फतेहाबाद के डीसी प्रदीप कुमार ने जिलावासियों को बधाई देते हुए कहा कि जिले में प्रथम स्थान पर रहा है. जिलावासियों के लिए गौरव की बात है कि फतेहाबाद लिंगानुपात में हरियाणा में सबसे आगे रहा है. उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरु किए गए अभियान ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ को गति देने में केवल सरकारी सिस्टम नहीं बल्कि आमजन का सहयोग और भागीदारी शामिल है. कन्या भ्रूण हत्या को रोकने के लिए प्रशासन समय-समय पर अभियान चलाकर आमजन को जहां जागृत करता है. वहीं इस कन्या भ्रूण हत्या जैसा दुष्कृत्य करने वालों पर सख्त कानूनी कार्रवाई भी की जाती है.

बेटियां भी किसी से कम नहीं, उन्हें गर्भ में ही न मारें
महिला स्वास्थ्यकर्मी कमला देवी ने बताया की फतेहाबाद जिले को लिंगानुपात में प्रथम आना बहुत ही खुशी की बात है, इसलिए बेटियों को जन्म देना चाहिए न की उन्हें गर्भ में ही मार दें. बेटी बेटों से किसी भी क्षेत्र में कम नहीं हैं. उन्हें पढ़ा लिखा कर आगे बढ़ने का मौका दें ताकि पढ़ लिख कर देश व प्रदेश का नाम रोशन कर सकें.

Tags: Beti Bachao-beti Padhao, Fatehabad news, Haryana news, Narendra modi

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर