Assembly Banner 2021

फतेहाबाद: BJP-JJP नेताओं के बाद अब बिजली निगम के किसी भी अधिकारी को गांंव में घुसने नहीं देंगे किसान

गांव में बैठक कर लिया गया ये फैसला

गांव में बैठक कर लिया गया ये फैसला

Kisan Aandolan: ग्रामीणों की चेतावनी जब तक आंदोलन चलेगा तब तक कोई बिजली फ्लाइंग के लिए अधिकारी या कर्मचारी गांव में न आए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 28, 2021, 9:07 PM IST
  • Share this:
फतेहाबाद. कृषि कानूनों के खिलाफ शुरु हुए किसानों का आंदोलन (Farmers Protest) को तीन माह का समय हो चुका है. किसान अलग अलग तरीकों से सरकार (Government) के खिलाफ प्रदर्शन कर चुके हैं. अब जिले के गांव समैण में ग्रामीणों ने बैठक कर निर्णय लिया है कि गांव में बिजली निगम के किसी भी अधिकारी या कर्मचारी को नहीं घुसने देंगे. ग्रामीणों ने साफ किया है यदि कोई कर्मचारी या अधिकारी गांव में आता है तो वह अपनी जानमाल का स्वयं जिम्मेवार होगा.

दरअसल गांव समैण में आज एक बैठक का आयोजन किया गया था. बैठक में ग्रामीणों ने एकमत होते हुए निर्णय लिया है कि सरकार जब तक आंदोलन कर रहे किसानों की नहीं सुनती है तब तक ग्रामीण सरकार और सरकार के नुमाईंदों का विरोध करते रहेंगे. बैठक के दौरान ग्रामीणों ने फैसले लेते हुए साफ किया है कि बिजली निगम का कोई कर्मचारी अथवा अधिकारी गांव में न आए. अगर कोई अधिकारी या कर्मचारी गांव में चैकिंग के लिए आता है तो वह अपनी जान माल का स्वयं जिम्मेवार होगा.

इसके अलावा ग्रामीणों ने कहा कि वह सरकार से जुड़े नेताओं का पहले ही बहिष्कार कर चुके हैं. भाजपा और जेजेपी के नेताओं और कार्यकर्ताओं का गांव में आनेपर प्रतिबंध लगा चुके हैं. ग्रामीणों का कहना है कि सरकार लगातार किसानों की अनदेखी करती आ रही है. अब किसान सरकार के खिलाफ असहयोग करेंगे. अब देखने वाली बात होगी कि सरकार और प्रशासन की आगे की रणनीति क्या होगी?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज