सड़क पर धान की रोपाई कर लोगों ने सरकार के खिलाफ किया विरोध-प्रदर्शन, 20 साल से बदहाल है व्यवस्था
Fatehabad News in Hindi

सड़क पर धान की रोपाई कर लोगों ने सरकार के खिलाफ किया विरोध-प्रदर्शन, 20 साल से बदहाल है व्यवस्था
सड़क पर जलभराव से परेशान लोगों ने धान की रोपाई कर विरोध जताया

चंडीगढ़ रोड (Chandigarh Road) से लेकर मिलन चौक तक मामूली बरसात में ही सड़क पर लबालब पानी भर जाता है. थोड़ी सी बरसात हुई नहीं कि जलभराव हो जाता है. आज जब बारिश के बाद जलभराव हुआ तो लोगों के सब्र का बांध टूट गया और वो सड़क पर विरोध-प्रदर्शन (Protest) के लिए उतर आए.

  • Share this:
टोहाना. सरकार के खिलाफ प्रदर्शन (Protest against Haryana Government) का अनूठा तरीका निकालते हुए आज स्थानीय लोगों ने जल भराव की समस्या से आजिज होकर सड़क पर ही धान बोना (Planting paddy) शुरू कर दिया. जब उनसे इसकी वजह पूछी गई तो उनका कहना था कि पिछले 20 साल से वो जलभराव की समस्या (Water logging problem) से जूझ रहे हैं. सरकारें बदलती रहीं लेकिन नेता या प्रशासन किसी ने भी उनकी सुध नहीं ली इसलिए अब वो सरकार के खिलाफ इस प्रकार से प्रदर्शन कर रहे हैं.

20 वर्षों से समस्या ज्यों की त्यों
बता दें कि टोहाना (Tohana) में चंडीगढ़ रोड (Chandigarh Road) से लेकर मिलन चौक तक मामूली बरसात में ही सड़क पर लबालब पानी भर जाता है. थोड़ी सी बरसात हुई नहीं कि जलभराव हो जाता है. आज जब बारिश के बाद जलभराव हुआ तो लोगों के सब्र का बांध टूट गया और वो सड़क पर विरोध-प्रदर्शन (Protest) के लिए उतर आए. लोगों ने पानी से भारी सड़क पर धान लगाकर सरकार व प्रशासन के खिलाफ रोष जताया. स्थानीय निवासी नवनीत शर्मा कहते हैं कि लगभग 20 वर्षों से यह समस्या ज्यों की त्यों बनी हुई है. मामूली बरसात से ही सड़क पर पानी लबालब भर जाता है. बार-बार सरकार व प्रशासन से गुहार लगाने के बाद भी समस्या का समाधान नहीं हुआ. इसलिए सड़क पर धान लगाकर रोष व्यक्त किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें- कांग्रेस के युवा नेता सिंधिया व पायलट भी अपनी पार्टी का भरोसा नहीं कर पाए: ओपी धनखड़



इन लोगों का कहना है कि मामूली बरसात से ही सड़क पर पानी भर जाता है इसके अलावा शहर के चारों ओर सड़कें झील का रूप धारण कर लेती है. वर्षों बीत जाने के बाद भी इस समस्या का समाधान नही हो रहा. स्थानीय लोगों का कहना है कि जलभराव के चलते लोग गड्ढे नहीं देख पाते और गिरकर चोटिल हो जाते हैं. व्यापारियों का कहना है कि सड़क के दोनों ओर बनी दुकानों के अंदर पानी घुस जाने से कारोबार पूरी तरह से ठप हो जाता है. बार-बार गुहार लगाने के बाद भी इस समस्या का समाधान नहीं हो रहा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज