हरियाणा: फ़तेहाबाद में दो ड्रग तस्करों की संपत्ति अटैच, अन्य पर भी निशाना

ड्रग तस्करों पर हरियाणा सरकार ने कसा शिकंजा (Photo: News 18 Hindi)
ड्रग तस्करों पर हरियाणा सरकार ने कसा शिकंजा (Photo: News 18 Hindi)

पुलिस (Police) ने नवम्बर 2018 में गश्त के दौरान एक टैक्टर से 9 किवंटल 72 किलो 600 ग्राम कचरा डोडा पोस्त बरामद (Recovered) किया था.

  • Share this:
फ़तेहाबाद. मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में हरियाणा पुलिस (Haryana Police) ने प्रदेश में नशे के ख़ात्मे के लिए जहां अपनी पूरी ताकत झोंक रखी है वहीं युवाओं की जिंदगी से खिलवाड़ करने वाले नशा माफियाओं की सम्पति अटैच की कार्रवाई भी शुरू कर दी है. फ़तेहाबाद एसपी राजेश कुमार ने सोमवार को यह जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस द्वारा नशे की खिलाफ चलाई जा रही मुहिम के अंतर्गत फतेहाबाद जिला में एनडीपीएस (NDPS) अधिनियम के तहत गिरफ्तार किए गए दो तस्कर भाईयों की लाखों रुपये की सम्पतियां अटैच करने की संबंधित विभाग द्वारा मंजूरी मिल गई है.

उन्होंने कहा कि सदर रतिया पुलिस ने नवम्बर 2018 में गश्त के दौरान एक टैक्टर से 9 किवंटल 72 किलो 600 ग्राम कचरा डोडा पोस्त बरामद किया था. इस मामले में पुलिस ने गांव कलोठा निवासी दो भाई बलजीत व रणजीत को गिरफ्तार किया था. बलजीत और रणजीत दोनों के खिलाफ नशा तस्करी के अनेक मामले दर्ज है.

राजस्व विभाग को किया गया सूचित



पुलिस ने एनडीपीएस अधिनियम की धारा 68 एफ के तहत इनकी चल-अचल सम्पति अटैच करने के लिए सम्बंधित प्राधिकरण को पत्र लिखा था. अब प्राधिकरण द्वारा इनकी सम्पति अटैच की मंजूरी दे दी गई है और इस बारे राजस्व विभाग को भी सूचित कर दिया गया है. उन्होंने बताया कि बलजीत सिंह के लड़के लखविन्द्र की 4 कनाल 5 मरले 9 सरसाई जमीन व एक ट्रैक्टर तथा रणजीत सिंह के लड़के की 4 कनाल 5 मरले 9 सरसाई जमीन को अटैच किया जाएगा.
कुल 12 मामले दर्ज

बलजीत पर कुल 12 मामले दर्ज है जिनमें 8 मामले एनडीपीएस एक्ट के है और वह अजमेर जेल में बंद है. वहीं रणजीत पर 6 मामले दर्ज है जिसमें 4 एनडीपीएस एक्ट के है और वह हिसार जेल में बंद है. पुलिस की इस कार्रवाई से अब ड्रग तस्करों को एक कड़ा संदेश भी जाएगा कि अगर उन्होंने अब भी इस अवैध धंधे से किनारा नहीं किया तो उनकी भी सम्पति जब्त हो सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज