पराली जलाने का मामला: दोषी किसानों को करवानी होगी जमानत, भरना होगा जुर्माना
Fatehabad News in Hindi

पराली जलाने का मामला: दोषी किसानों को करवानी होगी जमानत, भरना होगा जुर्माना
किसानों ने जवाब नहीं दिया तो इनके शस्त्र लाइसेंस नहीं बनेंगे

पुलिस विभाग की रिपोर्ट के अनुसार 40 किसानों को चिन्हित किया गया है जिनके पास गन लाइसेंस है और पराली जलाई है. अगले सप्ताह तक इन किसानों ने जवाब नहीं दिया तो इनके लाइसेंस नहीं बनेंगे

  • Share this:
फ़तेहाबाद. धान की पराली में आग लगाने पर जिला पुलिस ने 20 किसानों (Farmers) पर मामला दर्ज किया है. इस तरह जिले में धान की पराली (Stubble) में आग लगाने वाले किसानों की संख्या 470 तक पहुंच गई है. वहीं लोकेशन भी 1270 तक पहुंच गई है. कृषि विभाग (Agriculture Department) के अधिकारियों (Officers) की मानें तो एक सप्ताह का और सीजन रह गया है. पिछले कुछ दिनों से जिले में आग कम लग रही है. कुछ किसान जागरूक हो गये है तो कुछ विभाग द्वारा अपनाये गये सख्त रवैया का कारण है.

किसान पराली ना जलाए इसके लिए जिला प्रशासन पूरी तरह लगा हुआ है. उपायुक्त खुद खेतों में निकल रहे है और किसानों को जागरूक कर रहे है. दो दिन पूर्व उपायुक्त ने भूना के गांव टिब्बी का निरीक्षण किया तो एक होमगार्ड को काबू किया और उनके खिलाफ कार्रवाई के आदेश दिये हैं.

सोमवार को जिले के विभिन्न थानों में 20 किसानों के खिलाफ पुलिस ने मामले दर्ज किये हैं. वहीं अब पुलिस ने जिन किसानों पर मामले दर्ज हुए है उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है. जिन किसानों पर मामले दर्ज हुए है उन्हें अपनी जमानत भी करवानी पड़ेगी और कृषि विभाग द्वारा तय जुर्माना भी भरना पड़ेगा.



40 किसानों के लाइसेंस होंगे रद्द



उपायुक्त ने धान की सीजन शुरू होते ही आदेश दे दिए थे कि जो किसान पराली जलाएंगा और उसका लाइसेंस बना है तो उसे रद्द किया जाएगा. पुलिस विभाग की रिपोर्ट के अनुसार 40 किसानों को चिन्हित किया गया है जिनके पास गन लाइसेंस है और पराली जलाई है. अगले सप्ताह तक इन किसानों ने जवाब नहीं दिया तो इनके लाइसेंस नहीं बनेंगे. वहीं कृषि विभाग ने जिन किसानों को ट्रेस किया है उनका भविष्य में कभी भी गन लाइसेंस नहीं बनेगा.

पिछले साल की अपेक्षा कम जली पराली

डॉ. बलवंत सहारण, उपकृषि निदेशक फतेहाबाद ने बताया कि कृषि विभाग की टीम निरंतर किसानों को ट्रेस कर रही है. पिछले तीन चार दिनों से लोकेशन भी कम आ रही है. अब सीजन खत्म होने वाला है. इस बार पिछले साल की अपेक्षा कम पराली जली है. विभाग का अभियान जारी रहेगा.

यह भी पढ़ें- 

वादे के पक्‍के निकले बीरेंद्र सिंह, राज्‍यसभा से दिया इस्तीफा, चुनावी राजनीति से संन्‍यास का भी ऐलान

पानीपत में सड़क हादसे में 2 बुजुर्गों की मौत, 10 घायल
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading