लाइव टीवी

पराली की समस्या पर किसान बोले- मशीनें ना मिली तो आग लगाना मजबूरी

Jaspal Singh | News18 Haryana
Updated: October 23, 2019, 4:01 PM IST
पराली की समस्या पर किसान बोले- मशीनें ना मिली तो आग लगाना मजबूरी
'पराली को आग लगाना हमारी मजबूरी'

जिले में किसानों द्वारा पराली जलाने के मामले लगातार सामने आ रहे हैं. हरसैक द्वारा ली गई सैटेलाइट रिपोर्ट के अनुसार, अभी तक जिले में 4 दर्जन के करीब किसानों ने अपनी पराली को आग के हवाले किया है.

  • Share this:
फतेहाबाद. धान की पराली जलाने (Parali Burning) का मुद्दा बड़ा रूप लेने लगा है. एक ओर खेतों से पराली निकालने के लिए किसानों (Farmers) ने बुधवार को लघु सचिवालय में जोरदार प्रदर्शन किया, वहीं दूसरी ओर किसान लगातार पराली जला रहे हैं, जिससे पर्यावरण (Environment) को भारी नुकसान भी हो रहा है. पराली जलाने वाले किसानों का तर्क है कि सरकार ने अभी तक उनको पराली के लिए कोई ठोस आश्वासन नहीं दिया है. ना ही उनकी पराली खरीदी जा रही है और ना ही पराली प्रबंधन के लिए कोई आश्वासन दिया है.

फतेहाबाद के लघु सचिवालय में किसान संघर्ष समिति ने पराली प्रबंधन को लेकर जोरदार प्रदर्शन किया व डीसी को ज्ञापन सौंपा. किसान संघर्ष समिति के मनदीप नथवान ने बताया कि किसानों ने अपने खेतों में धान निकाल ली है और पराली के लिए किसान मशीनों का किराया वहन नहीं कर सकते. इसलिए उन्होंने सरकार से मांग की है कि पराली को जलाने से बचाने के लिए मशीन उपलब्ध करवाई जाए, ताकि वह अपनी पराली निकाल सकें. अगर उनको मशीनें उपलब्ध नहीं करवाई गई तो मजबूरन उनको पराली जलानी पड़ेगी.

4 दर्जन किसान लगा चुके हैं पराली को आग

जिले में किसानों द्वारा पराली जलाने के मामले लगातार सामने आ रहे हैं. हरसैक द्वारा ली गई सैटेलाइट रिपोर्ट के अनुसार, अभी तक जिले में 4 दर्जन के करीब किसानों ने अपनी पराली को आग के हवाले किया है. बुधवार को भी जिले के अनेक गांवों में किसानों ने खेत में पराली को आग के हवाले कर दिया और धुंए के गुब्बार देखे गए, जिससे पर्यावरण को नुकसान के साथ-साथ खेतों में रहने वाले मित्रकीट तथा वन्य प्राणियों की जान जा रही है.

किसानों को भेजे गए नोटिस

इसके अलावा लोगों के स्वास्थ्य पर भी इसका खासा असर हो रहा है. हालांकि सरकार व प्रशासन ने पराली जलाने पर रोक लगा रखी है और इसके लिए निषेधाज्ञा भी जारी की है. लेकिन किसान सरकार के आदेशों को न मानते हुए पराली जलाने में लगे हैं. कृषि विभाग के अनुसार, जिन किसानों ने पराली को आग लगाई है, उनको नोटिस भेजे गए हैं.

ये भी पढ़ें:- हरियाणा में 65 फीसदी लोगों ने वोट डाला, एग्जिट पोल में फिर खट्टर सरकार
Loading...

ये भी पढ़ें:- News 18 IPSOS Exit Poll 2019: हरियाणा में BJP 75 पार, 10 पर सिमट रही कांग्रेस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फतेहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 23, 2019, 3:52 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...