Fatehabad News: गुरुद्वारा साहिब की भव्य इमारत देखते ही देखते मलबे में तब्दील, राजमिस्त्री की मौत

हादसे में एक कारीगर की मौत हो गई. जेसीबी की मदद से उसके शव को बाहर निकाला गया.

Gurudwara building collapsed: हादसे की वजह का अभी तक पता नहीं चल सका है. गांव के बुजुर्ग बताते हैं कि इमारत बेहद मजबूती के साथ बनाई गई थी.

  • Share this:
फतेहाबाद. हरियाणा के फतेहाबाद जिल के टोहाना विधानसभा क्षेत्र के गांव भूंदड़ा में गुरुद्वारे की भव्य इमारत देखते ही देखते मलबे में तब्दील हो गई. मलबे में दबने से राजमिस्त्री की मौके पर ही मौत (died on the spot) हो गई. दरअसल, गुरुद्वारा में पुरानी इमारत की मरम्मत (Repair of old building in Gurudwara) का कार्य चल रहा था, जिसमें राजमिस्त्री सहित 5 मजदूर काम कर रहे थे. हादसे से पहले 4 मजदूर खाना खाने के लिए बाहर आ गए, लेकिन राजमिस्त्री अंदर रह गया. कड़ी मशक्कत के बाद उसे मलबे से बाहर निकाला गया, लेकिन तब तक उसकी मृत्यु हो चुकी थी.

ये पूरी दुर्घटना पास के घर में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई. मृतक का नाम अशोक कुमार (45 वर्ष) बताया गया है जो पास के सब तहसील कुलां का रहने वाला था. दुर्घटना के चश्मदीद गुरुद्वारा के ग्रंथी गुरमेल सिंह ने बताया कि लगभग 2 महीनों से गुरुद्वारे की पुरानी इमारत के मरम्मत का कार्य चल रहा था, जिसमें एक राजमिस्त्री अशोक कुमार सहित 5 लोग कार्य कर रहे थे. हादसे से पहले 4 मजदूर खाना खाने के लिए बाहर चल गए, लेकिन राजमिस्त्री अशोक कुमार इमारत के अंदर कार्य कर रहा था. वह इमारत गिरने के बाद मलबे में दब गया.

गुरुद्वारे की इमारत लगभग 35 वर्ष पुरानी
कड़ी मशक्कत के बाद उसे निकाला गया तब तक उसकी मृत्यु हो चुकी थी. हादसे के कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है. गुरमेल सिंह ने बताया कि गुरुद्वारे की इमारत लगभग 35 वर्ष पुरानी है. इसके अलावा जो इसके ऊपर गुमत बनाया गया था, वह लगभग 15 वर्ष पुराना है. अगर यह हादसा सुबह या फिर सायंकाल के समय होता दुर्घटना बड़ी हो सकती थी, क्योंकि उस समय श्रद्धालु गुरुद्वारा में माथा टेकने के लिए आते हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.