लाइव टीवी

सरपंच ने अपने ही खेत में लगाई धान की पराली को आग, उपायुक्त ने किया सस्पेंड

Jaspal Singh | News18 Haryana
Updated: November 20, 2019, 10:30 AM IST
सरपंच ने अपने ही खेत में लगाई धान की पराली को आग, उपायुक्त ने किया सस्पेंड
पंजाब और हरियाणा के खेतों में पराली जलाए जाने से आस-पास के इलाके में वायु प्रदूषण का गंभीर स्तर पर पहुंच चुका है. (फाइल)

डीसी ने इस मामले में बीडीपीओ को आदेश दिए हैं कि वह ग्राम पंचायत की सारी चल व अचल संपति अपने कब्जे में ले लें और ग्राम पंचायत की सभी कार्यवाही पर भी रोक लगाई जाती है.

  • Share this:
फतेहाबाद. एक ओर प्रशासन और अधिकारी किसानों (Farmers) को पराली जलाने से रोकने के लिए जागरूक करने में लगे हुए हैं. इसके लिए सरपंचों, नंबरदारों व ग्राम सचिवों की मदद ली जा रही है, वहीं दूसरी ओर गांव रजाबाद में तो गांव की सरपंच के खेत में ही पराली को आग लगा दी गई. यही नहीं गांव टिब्बी के ग्राम सचिव पराली जलाने (Stubble Burning) के मामले में किसानों को जागरूक नहीं कर पाए. मामला संज्ञान में आने के बाद फतेहाबाद (Fatehabad) के डीसी (Deputy Commissioner) धीरेन्द्र खडग़टा ने गांव रजाबाद की सरपंच ज्योति चंदेल व ग्राम सचिव देवीलाल को तुरंत प्रभाव से उनके पदों से निलंबित कर दिया है.

डीसी धीरेन्द्र खडग़टा ने बताया कि 18 नवंबर 2019 को समाज शिक्षा एवं पंचायत अधिकारी गांव रजाबाद की पेट्रोलिंग कर रहे थे. यहां पर पाया गया कि गांव की सरपंच के खेत में लगभग 2 एकड़ धान की पराली को आग लगाई गई थी. डीसी ने अपने आदेशों में कहा है कि सरपंच को अन्य ग्रामीणों को जागरूक करने के लिए कहा गया था, लेकिन सरपंच ने अपने कत्र्तव्यों का पालन न करते हुए अपने ही खेत में पराली को आग लगाई है. यह एक गंभीर विषय है, इसलिए सरपंच ज्योति चंदेल को तुरंत प्रभाव से उनके पद से निलंबित किया जाता है.

फतेहाबाद के उपायुक्त धीरेन्द्र खडग़टा


पंचायक की सभी कार्यवाही पर लगाई रोक

उन्होंने कहा कि यह एक गंभीर आरोप है, इसलिए सरपंच को उनके पद से भी हटाया जा सकता है. डीसी ने इस मामले में बीडीपीओ को आदेश दिए हैं कि वह ग्राम पंचायत की सारी चल व अचल संपति अपने कब्जे में ले लें और ग्राम पंचायत की सभी कार्यवाही पर भी रोक लगाई जाती है. एक अन्य आदेश में डीसी धीरेन्द्र खडग़टा ने बताया कि पराली में आग लगाने की घटनाओं की रोकथाम के लिए ग्राम सचिव देवीलाल को टिब्बी का नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया था. लेकिन वह इस गांव में पराली में आगजनी की घटनाओं को रोकने में असमर्थ रहे, इसलिए उनको तुरंत प्रभाव से निलंबित किया जाता है.

नंबरदारों को जारी किए नोटिस

वहीं खेत में पराली जलाने पर गांव सरदारेवाला के नंबरदार हरदीप सिंह और ज्ञान चंद को नंबरदार की ड्यूटी सही तरीके से ना निभाने पर जिलाधीश एवं उपायुक्त धीरेंद्र खडगटा ने नोटिस जारी कर 2 दिन में जवाब तलब किया. उपायुक्त ने कहा है कि स्पष्टीकरण दो दिन के अन्दर- अन्दर उनके कार्यालय में प्रस्तुत करें. जवाब संतोषजनक न मिलने पर उनके विरूद्ध हरियाणा भूमि प्रशासन मैनुअल 2013 के चैप्टर-9 के सैक्शन 319 के अंतर्गत कार्यवाही कर लम्बदारी पद से निलंबित कर दिया जाएगा.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फतेहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 20, 2019, 10:30 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...