लाइव टीवी

दिवाली के तीन दिन बाद भी जहरीली हवा नहीं छोड़ रही पीछा, मरीजों की संख्या बढ़ी

Nitin Antil | News18 Haryana
Updated: October 30, 2019, 3:30 PM IST
दिवाली के तीन दिन बाद भी जहरीली हवा नहीं छोड़ रही पीछा, मरीजों की संख्या बढ़ी
पराली और पटाखे जलाने के बाद यह स्थिति हर साल उत्पन्न हो जाती है.

हरियाणा के फतेहाबाद, सोनीपत, पानीपत, हिसार, करुक्षेत्र, बहादुरगढ़ की हवा (Air Quality) में पीएम 10 (PM 10) का स्तर सामान्य से बहुत ज्यादा है.

  • Share this:
सोनीपत/ फतेहाबाद. हरियाणा के शहर और गांव की हवा (Air Pollution) जहरीली हो रही है. दिवाली (Diwali) के तीन दिन बीत जाने के बाद भी लोगों को सांस लेने में मुश्किल हो रही है. हरियाणा के फतेहाबाद की हवा में पीएम 10 (PM 10) का स्तर 185 के करीब पहुंच गया है. सोनीपत की हवा में पीएम 10 का स्तर 130 के करीब अभी भी बना हुआ है. पानीपत का पीएम 10 का स्तर 405 के करीब है. हिसार का 196, कुरुक्षेत्र का 654 और बहादुरगढ़ का 190 के करीब अब भी बना हुआ है. यह सामान्य से बहुत ज्यादा है. सामान्य परिस्थितियों मे हवा में पीएम 10 का स्तर 100 से भी कम होना चाहिए.

श्वांस संबंधी रोगियों की संख्या में इजाफा

इस मसले सोनीपत के सिविल सर्जन डॉ. बी के राजौरा ने बताया कि पराली और पटाखे जलाने के बाद यह स्थिति हर साल उत्पन्न हो जाती है. स्मॉग के चलते सांस लेने संबंधी मरीजों के संख्या में अचानक इजाफा हो जाता है. हवा में जहर घुले होने के चलते आंखों में भी जलन हो रही है. इस हालात के चलते बुजुर्ग और बच्चे इस स्मॉग से ज्यादा प्रभावित हो रहे हैं.

Air Quality
हरियाणा के गांव और शहर वायु प्रदूषण की पूरी तरह जद में आ चुके हैं और दिवाली के तीन दिन बाद भी लोगों को सांस लेने में मुश्किल हो रही है.


प्रतिबंध और निर्देश के बावजूद बढ़ रहा है वायु प्रदूषण

डॉक्टरों की मानें तो एक तरफ बदलते मौसम के साथ वायु प्रदूषण कोढ़ में खाज का काम कर रहा है. नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल की रोक के बावजूद किसान खेतों में पराली जलाने से नहीं रूक रहे हैं. वहीं कोर्ट द्वारा पटाखे जलाने पर दिए गए निर्देशों के बावजूद दिपावली की रात जमकर पटाखे जलाए गए. नतीजा यह हुआ है कि खेतों से उठता धुंआ और पटाखों के धुंए ने मिलकर हवा को और अधिक जहरीला बना दिया है. फतेहाबाद के जनरल फिजीशयन डॉ. अंशुल सहगल ने श्वांस से संबंधित मरीजों को एतिहयात बरतने की सलाह दी है. उनका कहना है कि सांस और हृदय रोगी अपना विशेष ध्यान रखें और अपने डॉक्टर के संपर्क में भी रहें.

(इनपुट सहयोग: जसपाल सिंह)
Loading...

यह भी पढ़े: चौटाला परिवार को सत्ता में लाने की खाई थी कसम, 15 साल तक नहीं बनाई दाढ़ी

BJP नेता जांगड़ा ने कहा, मुझे टिकट नहीं मिला इसलिए JJP से करना पड़ा गठबंधन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फतेहाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 30, 2019, 3:22 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...