इन नलकूपों का पानी बांट रहा हेपेटाइटिस-C, भूलकर भी न पिएं इसे

नदी के प्रदूषित पानी के कारण रतिया टोहाना व जाखल इलाके में हेपेटाइटस-सी जैसी भयंकर बीमारी भी फैल चुकी है.

Jaspal Singh | News18 Haryana
Updated: July 6, 2019, 2:18 PM IST
इन नलकूपों का पानी बांट रहा हेपेटाइटिस-C, भूलकर भी न पिएं इसे
फतेहाबाद में 13 ट्यूबवेलों पर प्रदूषण बोर्ड ने लगाया चेतावनी बोर्ड
Jaspal Singh | News18 Haryana
Updated: July 6, 2019, 2:18 PM IST
हरियाणा के फतेहाबाद से होकर गुजरने वाली घग्गर नदी प्रदूषण को लेकर इन दिनों काफी सुर्खियों में है. प्रदूषित पानी के कारण हरियाणा प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की टीम ने फतेहाबाद के रतिया व जाखल क्षेत्र में घग्गर नदी किनारे 13 जगहों पर लगे ट्यूबवेलों पर चेतावनी बोर्ड लगाए हैं. जिस पर लिखा गया है कि ‘ट्यूबवेल का पानी पीने लायक नहीं है.’ वहीं केंद्रीय प्रदूषण नियत्रंण बोर्ड, हरियाणा प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड व पंजाब प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की संयुक्त टीमें हर तीन माह बाद इन ट्यूबवेलों के पानी के सैंपल लेने का निर्णय लिया है. बोर्ड ने सूचना पट्टर घग्गर नदी के 500 मीटर के दायरे में लगाए हैं.

इन जगहों पर लगाए गए हैं चेतावनी पट्ट-

प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने रतिया के बुढलाडा रोड स्थित सर्विस स्टेशन, कंवलगढ, बबनुपर रोड रतिया, चांदपुरा रोड रतिया, साधनवास, नाली रोड ढाणी साधनवास, साधनवास गांव व तलवाड़ी में एक-एक, नडैल रोड जाखल में तीन जगह व तलवाड़ा में कुलां रोड व घग्गर के किनारे ट्यूबवेल पर नोटिस बोर्ड लगाए हैं.

ये है मामला-

पिछले दिनों घग्गर में बहने वाले पानी के साथ साथ नदी के दोनों तरफ 500 मीटर के दायरे में खेतों में लगे निजी ट्यूबवेल के भी भूमिगत पानी के सैंपल लिए थे. जिसमें घग्गर के आस-पास जमीनी पानी सही न होने की रिपोर्ट सामने आई.

प्रदूषित पानी की वजह से फैली बीमारियां-

कभी घग्गर नदी लोगों के लिए जीवनदायनी मानी जाती थी, लेकिन अब प्रदूषित पानी के कारण काफी बदनाम हो चुकी है. नदी के प्रदूषित पानी के कारण रतिया टोहाना व जाखल इलाके में हेपेटाइटस-सी जैसी भयंकर बीमारी भी फैल चुकी है. इलाके के लोग इलाज करवाने के लिए चंडीगढ़, रोहतक की पीजीआई में चककर काट रहे हैं.
Loading...

ये भी पढ़ें- पेटदर्द से परेशान मरीज के पेट से निकाला गया 6 फीट लंबा कीड़ा

ये भी पढ़ें- लेमिनेशन काटने वाले कटर से भांजों ने की थी मामा की हत्या
First published: July 6, 2019, 1:29 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...