अपना शहर चुनें

States

फतेहाबाद : जहां से शुरू हुआ 'स्वच्छता अभियान' वहीं दम तोड़ता आ रहा नज़र

कान्हा पार्क के हालात
कान्हा पार्क के हालात

लघु सचिवालय में आने वाले लोगों के आराम के उद्देश्य से 2016 में इस पार्क निर्माण शुरू किया गया. पार्क में शानदार ट्रेक भी बना. मगर उसकी हालत ऐसी हो गई जैसे कोई यहां घूमने तो क्या आसपास नहीं भटकना चाहता.

  • Share this:
देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सपना देखा पूरे देश को स्वच्छ और साफ सुथरा बनाने का. इसके लिए 2 अक्टूबर को 2014 को शुरु किया गया स्वच्छ भारत अभियान. इस अभियान को क्रियांवित करने और इसे सफल बनाने का भार जिन कंधों पर ड़ाला गया वो कंधे शायद अब इसका बोझ नहीं उठा पा रहे हैं. बात कर रहे हैं फतेहाबाद के लघु सचिवालय स्थित कान्हा पार्क की.

लघु सचिवालय में आने वाले लोगों के आराम के उद्देश्य से 2016 में इस पार्क निर्माण शुरू किया गया. पार्क में शानदार ट्रेक भी बना. मगर उसकी हालत ऐसी हो गई जैसे कोई यहां घूमने तो क्या आसपास नहीं भटकना चाहता. पार्क में घास, पेड़, पौधों की जगह झाड़ झंकाड़, कांटेदार झाडिय़ां और कूड़़े के ढ़ेर लगे हैं.

यह कूड़ा और कहीं ओर से नहीं बल्कि लघु सचिवालय तथा लघु सचिवालय के समीप ही बनी डीसी, एसपी सहित तमाम अधिकारियों की कोठियों से निकलकर आ रहा है. मगर न तो इसकी जानकारी डीसी को है और न ही किसी अधिकारी को. सबसे बड़ी बात यह है कि पार्क और कॉलोनी के ठीक बीच वो रास्ता बना जिससे होकर जिले के तमाम अधिकारी अपनी कोठियों तक पहुंचते हैं या फिर कोठियों से अपने कार्यालयों तक.



फतेहाबाद के उपायुक्त ने शहर को स्वच्छ और सुंदर रखने के लिए शहरवासियों को नारा दिया 'म्हारा सुथरो फतेहाबाद. मगर अपनी कॉलोनी को साफ करना भूल गए. पार्क के हालत ऐसे ही कि यह पार्क किसी डंपिग प्वाइंट नजर आ रहा है. लघु सचिवालय के द्वितिय खंड में शिक्षा, समाज कल्याण, कृषि, फूड सप्लाई, ई-दिशा केंद्र, सेल्स टेक्स, एक्साईज विभाग, मौलिक शिक्षा सहित दर्जनभर से अधिक कार्यालय हैं और इन कार्यालयों में दिनभर में सैंकड़ों लोग अपने काम से आते हैं.
यहां आने वाले लोग दो घड़ी चैन की सांस ले और आराम कर लें, इस उद्देश्य से वर्ष 2016 में पार्क निर्माण कार्य शुरु हुआ था और पार्क का नाम रखा गया 'कान्हा प्लीजेंट पार्क' शानदार ट्रेक भी बनाया गया. मगर इस बीच अधिकारियों का तबादला हो गया और प्रोजेक्ट वहीं रूक गया और शुरु हो गया यहां कूड़े के ढ़ेर लगने. अब ऐसे में स्वच्छ भारत अभियान की कल्पना भी भला कैसे की जा सकती है.

ये भी पढ़ें:-

फरीदाबाद: रेस्टोरेंट के शाही पनीर में निकला मरा हुआ चूहा, VIDEO वायरल

अपराध की दुनिया छोड़ना युवक को पड़ा महंगा, साथियों ने कर दी हत्या
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज