हिसार के निजी अस्पताल में पांच कोरोना मरीजों की मौत, ऑक्सीजन नहीं मिलने की वजह से गई जान

हिसार में कोरोना मरीजों की मौत के बाद विलाप करते परिजन.

हिसार में कोरोना मरीजों की मौत के बाद विलाप करते परिजन.

हिसार (Hisar) के एक निजी अस्पताल में ऑक्सीजन (Oxygen) की कमी से पांच मरीजों की मौत (Death) हो गई, जिसके बाद उनके परिजनों ने जमकर हंगामा किया. मौके पर पहुंची पुलिस (Pilice) ने मामले को शांत कराया उसके बाद शवों को अंतिम संस्कार के लिए भेजा गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 26, 2021, 1:17 PM IST
  • Share this:
हिसार. हरियाणा (Haryana) में कोरोना के कारण अस्पतालों (Hospitals) में मरीजों के मरने का सिलसिला जारी है. पानीपत और रेवाड़ी के बाद अब हिसार के एक निजी अस्पताल में पांच कोरोना संक्रमितों की मौत हो गई है. मरीजों के परिजनों को जब बताया गया कि ऑक्सीजन (Oxygen) की कमी के कारण मरीजों की मौत हुई है, तो परिजनों ने अस्पताल में हंगामा कर दिया. परिजनों का आरोप है कि अस्पताल के चिकित्सकों की लापरवाही के कारण उनके मरीजों की मौत हुई है. घटना की जानकारी जैसे ही पुलिस को मिली अस्पताल के बाहर भारी पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है.

हिसार के जाट कॉलेज के पास स्थित एक निजी अस्पताल में रविवार रात में ऑक्सीजन की कमी के कारण पांच कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत हो गई. मौत की सूचना मिलने पर परिजनों में रोष छा गया और काफी देर तक उन्होंने अस्पताल में हंगामा भी किया. कोरोना से मरने वालों में एक पंजाब निवासी और बाकी जिले के उकलाना, बरवाला और शहर की कॉलोनी निवासी थे. घटना की सूचना पर डीएसपी राजेश सैनी और भारी संख्या में पुलिस बल मौके पर पहुंचा.

Haryana News: गुरुग्राम के प्राइवेट अस्पताल में ऑक्सीजन खत्म होने से 4 कोरोना संक्रमितों की मौत

मृतक के परिजनों का आरोप है कि मरीजों को सिलिंडर की बजाय ऑक्सीजन टैंक से ही ऑक्सीजन दी जा रही थी. इसके अलावा यह भी आरोप लगाए कि निजी अस्पताल का स्टाफ पूरी तरह ट्रेंड नहीं है और अस्पताल में मरीजों को देखने के बजाय तीमारदारों के साथ अभद्र व्यवहार भी करते हैं. ऐसे में मरीजों को समय पर ऑक्सीजन नहीं मिली, जिस कारण उनकी मौत हो गई. उस दौरान अस्पताल स्टाफ और परिजनों के बीच कहासुनी और बहस भी हुई.
कुछ देर बाद पुलिस प्रशासन द्वारा मृतक के परिजनों को शांत करवाया. उसके बाद सभी कोविड-19 शव को अंतिम संस्कार के लिए भेजा गया. जानकारी के अनुसार कुछ दिनों से सभी संक्रमित मरीजों का सोनी बर्न अस्पताल में उपचार चल रहा था. ऐसे में परिजनों ने अस्पताल प्रशासन पर इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है क्योंकि मरीजों की समय पर देखभाल न होने और उनकी ऑक्सीजन की मात्रा पूरी न होने से उनकी मौत हो गई. फिलहाल इस मामले की जांच में पुलिस जुटी हुई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज