लाइव टीवी

जहरीली हुई गुरुग्राम और जींद की हवा, सांस और दमे के मरीजों की संख्या बढ़ी

Neeraj Ambawata | News18 Haryana
Updated: October 31, 2019, 11:21 AM IST
जहरीली हुई गुरुग्राम और जींद की हवा, सांस और दमे के मरीजों की संख्या बढ़ी
गुरुग्राम और जींद की हवा हुई जहरीली

दीपावली के पर्व ग्रामीण एंव शहरी क्षेत्र में पटाखे चलाने के कारण हवा में प्रदूषण का स्तर एकाएक बढ़ गया. स्वास्थ विभाग जींद के उप सिविल सर्जन डॉक्टर राजेश भोला ने बताया कि प्रदूषण का स्तर बढ़ने के कारण रोगीयों की संख्या में इजाफा हुआ है.

  • Share this:
गुरुग्राम. दिल्ली एनसीआर सहित गुरुग्राम का पॉल्यूशन लेवल खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है. गुरुग्राम का पॉल्यूशन (Pollution) लेवल यानी एयर क्वालिटी इंडेक्स यानी पीएम 2.5 गुरुवार को 338 पार कर चुका हैं जिसकी वजह से सांस और दमे के रोगियों (Patients) की परेशानी भी बढ़ गई है.

गुरुग्राम में लगातार पॉल्यूशन लेवल बढ़ रहा हैं जिसकी वजह से ना केवल आम लोगों को परेशानी उठानी पड़ रही है बल्कि प्रशासन के भी हाथ पैर फूल गए हैं. एक तरफ जहां शहर की हवा जरहीली हो चुकी हैं जिसकी वजह से लोगों को मास्क पहनकर घऱ से बाहर निकलना पड़ रहा है तो वहीं दमा और सांस के रोगियों की परेशानी भी इस पॉल्यूशन ने बढ़ा दी है.

दूसरी तरफ पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड की तरफ से पॉल्यूशन लेवल को कम करने के लिए कई इंतजाम भी किए जा रहे हैं जिनमें निर्माणाधीन बिल्डिगों पर अगले पांच दिन के लिए रोक लगा दी है. साथ ही लगातार पेड़ों पर पानी का छिड़काव भी किया जा रहा हैं. तो वही किसानों से पराली नहीं जलाने की अपील की जा रही हैं. वहीं बोर्ड की तरफ से अब तक सख्ताई बरतते हुए 10 लाख से ज्यादा के चालान भी बोर्ड की तरफ से किया जा चुके हैं.

जींद की आबोहवा भी हुई जहरीली

दिवाली के पर्व पर अंधाधुंध चलाए गए पटाखों से जिला जींद की आबोहवा को काफी हद तक खराब कर दिया है, जिससे लोगों को आंखों में जलन महसूस होने लगी है. जिला मुख्यालय के नागरिक अस्पताल में भी दमा और आंखों क एजर्जी के रोगीयों की संख्या में भी इजाफा होना बताया गया है. जींद में वायु प्रदूषण का स्तर 280 माइक्रोग्राम क्यूबिक मीटर के पार पहुंच गया था जो कि सेहत के लिए काफी नुकसानदायक है.

दिवाली के बाद बढ़ा पॉल्यूशन

दीपावली के पर्व ग्रामीण एंव शहरी क्षेत्र में पटाखे चलाने के कारण हवा में प्रदूषण का स्तर एकाएक बढ़ गया. स्वास्थ विभाग जींद के उप सिविल सर्जन डाक्टर राजेश भोला ने बताया कि प्रदूषण का स्तर बढ़ने के कारण रोगीयों की संख्या में इजाफा हुआ है. उन्होंने बताया कि ऐतीहायत के तौर पर जब भी घर से बाहर निकले तो मुहं को ढककर निकले और मास्क का प्रयोग करें.
Loading...

ये भी पढ़ें- ED की अदालत ने दी पूर्व CM भूपेंद्र हुड्डा सहित मोतीलाल वोरा को अंतरिम जमानत

पार्टी जो भी जिम्मेवारी सौंपेगी उसकी वहीं से शुरुआत करूंगा : अनिल विज

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए अंबाला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 31, 2019, 10:29 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...