लाइव टीवी

पेड़ों की कटाई से दुखी 7 साल की दिव्यांशी ने बनाई 'वॉकिंग ट्री' ड्रॉइंग, जीता 'डूडल फॉर गूगल' अवार्ड

News18Hindi
Updated: November 16, 2019, 8:01 AM IST
पेड़ों की कटाई से दुखी 7 साल की दिव्यांशी ने बनाई 'वॉकिंग ट्री' ड्रॉइंग, जीता 'डूडल फॉर गूगल' अवार्ड
दिव्यांशी द्वारा बनाई गई चलते हुए पेड़ों की ड्राइंग.

कक्षा एक से 10 तक के बच्चों की एक लाख से अधिक प्रविष्टियों (Entries) में से दिव्यांशी ने यह पुरस्कार जीता है. उसने कहा कि जब उसने पेड़ों को कटते हुए देखा तो 'वाकिंग ट्री' बनाने की प्रेरणा मिली.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 16, 2019, 8:01 AM IST
  • Share this:
गुरुग्राम. देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) से सटे हरियाणा के गुरुग्राम (Gurugram) की रहने वाली सात साल की दिव्यांशी सिंघल (Divyanshi Singhal) ने ‘वॉकिंग ट्री’ (Walking Tree) बनाकर डूडल फॉर गूगल अवार्ड (Doodle for Google Award) जीता है. दूसरी क्लास में पढ़ने वाली दिव्यांशी ने आने वाले समय (भविष्य) में पेड़ों के चलने की कल्पना करते हुए इस विषय पर ड्रॉइंग (Drawing) बनाई. उसकी बनाई इस पेंटिंग को 14 नवंबर के दिन बाल दिवस के मौके पर गूगल इंडिया के होम पेज पर बतौर डूडल प्रदर्शित किया गया था.

ऐसे मिली 'वॉकिंग ट्री' की प्रेरणा
दिव्यांशी ने कहा कि जब उसने पेड़ों को कटते हुए देखा तो 'वाकिंग ट्री' बनाने की प्रेरणा मिली. दिल्ली पब्लिक स्कूल (DPS) की छात्रा ने बताया कि ‘जब मैं गर्मी की छुट्टियों में अपनी दादी के घर गई, तो मैंने देखा कि पेड़ काटे जा रहे हैं. मुझे बुरा लगा और मैंने सोचा कि अगर पेड़ चल सकते तो वो कटने से बच जाते.’


एक लाख में से चुनी गई दिव्यांशी की ड्राइंग
कक्षा एक से 10 तक के बच्चों की एक लाख से अधिक प्रविष्टियों (Entries) में से दिव्यांशी ने यह पुरस्कार जीता है. जूरी की टीम में गूगल में छोटा भीम निर्माता राजीव चिलका, यूट्यूबर प्राजक्ता कोली और ‘नेहा की डूडल’ फेम नेहा शर्मा को शामिल किया था. डूडल के साथ-साथ उसकी जीत की खबर ट्विटर पर वायरल हो गई, लोगों ने नन्हीं दिव्यांशी के इस प्रयास की बहुत सराहना की.



डूडल ने दिला दी 'लॉर्ड ऑफ द रिंग्स' की याद
आजकल वयस्क भी छोटी-छोटी लापरवाहियों और अज्ञानतावश जलवायु परिवर्तन (Climate Change) से निपटने के प्रयास करने से इनकार कर देते हैं. फिर भी लोगों ने कहा कि डूडल ने उन्हें लॉर्ड ऑफ द रिंग्स की याद दिला दी है, जिसमें एंट्स नामक चलने वाले पेड़ दिखाई देते हैं.

ये भी पढे़ं - 

चिन्मयानंद मामला: सुप्रीम कोर्ट ने हाईकोर्ट के आदेश पर लगाई रोक

योजना के अनुसार भारत को S-400 प्रक्षेपास्त्र प्रणाली दी जाएगी: व्लादिमीर पुतिन

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गुड़गांव से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 16, 2019, 7:17 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर