गुरुग्राम: पूर्व वैज्ञानिक ने बीवी-बच्चों पर हथोड़े से किया वार, फिर रेत दिया गला और लगा ली फांसी

पुलिस को जांच के दौरान मृतक डॉ. प्रकाश सिंह के जेब से एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है, जिसमें लिखा था कि वो अपने परिवार को सही तरीके से चला नहीं पाए, पूरी जिम्मेदारी उनके ऊपर थी. जो कुछ भी हुआ है इसके लिए कोई और नहीं वो खुद जिम्मेदार है.

News18 Haryana
Updated: July 2, 2019, 9:07 AM IST
गुरुग्राम: पूर्व वैज्ञानिक ने बीवी-बच्चों पर हथोड़े से किया वार, फिर रेत दिया गला और लगा ली फांसी
डॉक्टर प्रकाश सिंह की फाइल फोटो
News18 Haryana
Updated: July 2, 2019, 9:07 AM IST
गुरुग्राम शहर की एक दवा कंपनी में पूर्व वैज्ञानिक रहे डॉ. प्रकाश सिंह ने रविवार की रात अपनी पत्नी और बेटे-बेटी की हत्या कर खुद फांसी लगा ली. डॉक्टर ने बीवी और दो बच्चों पर पहले हथौड़े से वार किया और बाद में फरसे से गला काट दिया. तीनों की हत्या के बाद डॉक्टर ने खुद भी फांसी लगा ली. पुलिस को उनकी जेब से अंग्रेजी में लिखा सुसाइड नोट मिला है, जिसमें उन्होंने परिवार संभालने में असमर्थता जताते हुए घटना के लिए खुद को जिम्मेदार ठहराया है.

बता दें कि गुरुग्राम के सेक्टर 49 के उप्पल साउथेंड सोसाइटी के एस ब्लॉक में रहने वाले डॉ. प्रकाश सिंह मूल रूप से रघुनाथपुर, वाराणसी के रहने वाले थे. वह रसायनशास्त्र के जानकार थे और यहां दवा निर्माता कंपनी सन फार्मा में वैज्ञानिक थे. हालांकि, करीब एक महीने पहले उन्होंने सन फार्मा की नौकरी छोड़ दी थी और अब हैदराबाद की किसी फार्मा कंपनी में करीब 20 दिन बाद नौकरी शुरू करने वाले थे. इसलिए फिलहाल वह घर पर ही रह रहे थे. दंपति की ओर से गुरुग्राम और पलवल में चार स्कूल चलाए जा रहे थे.

सुसाइड नोट बरामद
पुलिस को जांच के दौरान मृतक डॉ. प्रकाश सिंह के जेब से एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है. जिसमें लिखा था कि वो अपने परिवार को सही तरीके से चला नहीं पाए, पूरी जिम्मेदारी उनके ऊपर थी. जो कुछ भी हुआ है इसके लिए कोई और नहीं वो खुद जिम्मेदार है. जिस इलाके में डॉ. प्रकाश सिंह अपने पूरे परिवार के साथ रहते थे या वो गुरुग्राम का हाई प्रोफाइल इलाका है.

मौके दो तेजधार हथियार भी मिले
पुलिस का ये भी कहना है कि मौके से उन्होंने 2 धारधार हथियार बरामद कर ली है और मृतक के परिजनों से पूछताछ हो रही है. हालांकि मामले में पुलिस हत्या का केस दर्ज कर जांच शुरू करेगी, सुसाइड नोट पर आज की तारीख लिखी हुई है, जिससे एक बात साफ हो जाती है कि पूरी घटना रात 12 बजे के बाद की है.

पोस्मार्टम की रिपोर्ट आने के बाद होगा खुलासा
Loading...

फिलहाल, डॉ. प्रकाश सिंह ने अपने पूरे परिवार की हत्या अकेले कैसे की ये पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पता चलेगा. पड़ोस के लोग भी परेशान है कि कल तक जो परिवार उनके साथ था आज पूरे परिवार की हत्या हो गई है. पड़ोसी समझ नही पा रहे है कि आखिरकार कैसे हो गया ये, जबकि मृतक डॉ. प्रकाश सिंह की मृतक पत्नी सोनू उर्फ कोमल एक निजी स्कूल चलाती थी.

फार्मा कंपनी में कार करता था डॉ. प्रकाश सिंह
बताया जा रहा है कि मृतक डॉ प्रकाश सिंह उम्र 50 साल थी और वो एक फार्मा कंपनी में नौकरी कर रहा था, जबकि मृतक पत्नी सोनू उर्फ कोमल एक निजी स्कूल चलाती थी. मृतक बेटी अदिति उम्र 18 साल ग्रेजुएशन कर रही थी और मृतक बेटा आदित्या उम्र 15 साल स्कूल में पढ़ाई कर रहा था. ये लोग 3 बीएचके फ्लैट में रहते थे. एक ही कमरे में दोनों बच्चों और पत्नी का शव पुलिस को मिला, जबकि पति प्रकाश का शव पुलिस को ड्राइंग रूम में सीलिंग फैन से लटका हुआ मिला.

ये भी पढ़ें-

लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद मुंह दिखाने लायक नहीं रही कांग्रेस: विज

इनेलो को लगा एक और झटका, सतीश नांदल BJP में हुए शामिल
First published: July 2, 2019, 8:38 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...