लोगों को 263 करोड़ रुपये की चपत लगाने वाला ठग गिरफ्तार

साइबर सिटी गुरुग्राम में ठगी का बड़ा मामला सामने आया है जहां पुलिस ने लोगों को 263 करोड़ रुपये की चपत लगाने वाले शातिर आरोपी को गिरफ्तार किया है.

ETV Haryana/HP
Updated: March 13, 2018, 11:05 AM IST
लोगों को 263 करोड़ रुपये की चपत लगाने वाला ठग गिरफ्तार
पुलिस गिरफ्त में ठग
ETV Haryana/HP
Updated: March 13, 2018, 11:05 AM IST
देश की राजधानी दिल्ली के पास साईबर सिटी गुरुग्राम से एक ऐसा मामला सामने आया है जिसे सुनकर आपके होश उड़ जाएंगे. गुरुग्राम पुलिस की ईओडब्ल्यू (Economic Offence Wing) की टीम ने एक ऐसे शख्स को गिरफ्तार किया हैं जिसने खुलासा किया है कि उसने देशभर में करीब 2 लाख 28 हजार 48 लोगों को अपना शिकार बनाया और उनसे 263 करोड़ 64 लाख 88 हजार और 533 रुपए की धोखाधड़ी की है.

पुलिस की गिरफ्त में आए ठग का नाम संजय मेवाड़ा है जो कि यूपी के शाहजहांपुर जिले का रहने वाला है.  गुरुग्राम पुलिस की ईओडब्ल्यू की टीम ने भोपाल से 10 तारीख को गिरफ्तार किया है.

पुलिस ने खुलासा किया है कि इस शख्स ने देश के राजस्थान, हरियाणा, आंध्र प्रदेश, भोपाल, छत्तीसगढ़ और यूपी जैसे राज्यों में लोगों को एफडी के नाम पर अच्छे रिटर्न्स देने का लालच दिया और लोगों से अपनी कंपनी में पैसे इन्वेस्ट कराए. लेकिन रिटर्न्स तो दूर इसने लोगों को उनका इन्वेस्ट किया हुआ पैसा तक नहीं लौटाया.

इन कंपनियों ने गुरुग्राम के करीब 6 हजार लोगों को करोड़ो रुपयों का चूना लगाया है. देशभर में ये कंपनियां अलग अलग नाम से खुली हुई थी. दरअसल फरीदाबाद के रहने वाले एक शख्स के साथ करीब दो दर्जन लोगों ने 1 अगस्त 2017 को गुरुग्राम पुलिस को शिकायत दी कि गुरुग्राम के सोहना में श्रीराम रियल स्टेट एंड बिजनेस सोल्यूशन कम्पनी में इन्होने लाखों रुपए इन्वेस्ट किए और कंपनी अब इनका पैसा वापस नहीं कर रही.

इस शिकायत पर पुलिस ने केस दर्ज कर लिया और इस कंपनी के दो निदेशकों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. कुछ दिन बाद पुलिस ने इस कंपनी के रिकॉर्ड्स को खंगाला तो मामले से जुड़े दो और लोगों को गिरफ्तार किया लेकिन ये तो सिर्फ मोहरे थे.

पुलिस की जांच जारी रही और इसी साल 10 मार्च को गुरुग्राम पुलिस ने सैंकड़ो करोड़ों रुपए ठगने के इस मायाजाल के मुख्य आरोपी संजय मेवाड़ा को भोपाल से गिरफ्तार कर लिया. भोपाल से पुलिस इसे आज गुरुग्राम लेकर पहुंची तो कोर्ट में पेश कर इसे सात दिनों की रिमांड़ पर लिया गया है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर