मस्जिद सील मामले को लेकर मंडलायुक्त से मिले मुस्लिम नेता

नूंह से इनेलो विधायक जाकिर हुसैन के अनुसार मंडलायुक्त ने प्रतिनिधिमंडल को जल्द ही मामले को सुलझाने और मस्जिद की सील खोलने का आश्वासन दिया है.

Dharamvir Sharma | News18 Haryana
Updated: September 16, 2018, 1:37 PM IST
मस्जिद सील मामले को लेकर मंडलायुक्त से मिले मुस्लिम नेता
मंडलायुक्‍त से मिलने पहुंचा मुस्लिम समाज का प्रतिनिधि मंडल.
Dharamvir Sharma | News18 Haryana
Updated: September 16, 2018, 1:37 PM IST
हरियाणा में गुरुग्राम की शीतला कॉलोनी में मस्जिद को सील करने के मामले में नूंह से इनेलो विधायक और मुस्लिम समुदाय के कद्दावर नेता माने जाने वाले जाकिर हुसैन ने एक प्रतिनिधि मंडल के साथ गुरुग्राम के मंडलायुक्त डी. सुरेश से मुलाकात कर मस्जिद की सील खोलने की गुहार लगाई. जाकिर हुसैन के अनुसार मंडलायुक्त ने प्रतिनिधिमंडल को जल्द ही मामले को सुलझाने और मस्जिद की सील खोलने का आश्वासन दिया है.

दरअसल गत बुधवार को गुरुग्राम नगर निगम की इन्‍फोर्समेंट टीम ने शीतला कॉलोनी में मकान रूपी मस्जिद को आयुध डिपो के 300 मीटर दायरे में अवैध निर्माण करार देकर सील कर दिया था, जबकि उसके साथ लगते मंदिर, चर्च और मकानों को कुछ नहीं किया गया. इससे शीतला कॉलोनी में मस्जिद के पास की स्थिति तनावपूर्ण हो गई थी. मुस्लिम समुदाय के लोगों ने इस पूरी कार्रवाई को राजनीति से प्रेरित बताते हुए मस्जिद के सामने ही धरना-प्रदर्शन करना शुरू कर दिया था, हालांकि बाद में जिला प्रशासन ने सभी प्रदर्शनकारियों को वहां से खदेड़ दिया था. अब इस मामले ने अब राजनीतिक रंग भी लेना शुरू कर दिया है.

नूंह से इनेलो विधायक और मुस्लिम समुदाय के कद्दावर नेता माने जाने वाले जाकिर हुसैन ने एक प्रतिनिधि मंडल के साथ इस मामले को लेकर शनिवार को गुरुग्राम के मंडलायुक्त डी. सुरेश से मुलाकात कर मस्जिद की सील खोलने की गुहार लगाई. इनेलो नेता की मानें तो मंडलायुक्त ने प्रतिनिधिमंडल को जल्द ही मामले को सुलझाने और मस्जिद की सील खोलने का आश्वासन दिया है. जाकिर हुसैन ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि अगले जुम्मे की नमाज शीतला कॉलोनी की मस्जिद में ही अदा की जाएगी.

वहीं गुरुग्राम नगर निगम ने एक ट्वीट कर मस्जिद सील करने को पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट के फैसले के मुताबिक की गई कार्रवाई बताया है. अब ऐसे में मंडलायुक्त और गुरुग्राम जिला प्रशासन के लिए मस्जिद की सील खोलना जहां कोर्ट की अवमानना होगी, वहीं उसे पूरे मामले में फजीहत भी झेलनी पड़ेगी. अब ऐसे में देखना होगा कि मस्जिद सील विवाद में जिला प्रशासन क्या कारगर कदम उठा पाता है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर