लाइव टीवी

देशभर के गुर्जर समाज के प्रतिनिधियों ने गुरुग्राम में की महापंचायत, लिए कई अहम फैसले

Neeraj Ambawata | News18 Haryana
Updated: November 7, 2019, 11:40 AM IST
देशभर के गुर्जर समाज के प्रतिनिधियों ने गुरुग्राम में की महापंचायत, लिए कई अहम फैसले
गुरुग्राम में आयोजित गुर्जर महापंचायत में देश के कई राज्यों से जुटे प्रतिनिधि

देश भर के दर्जन भर से ज्यादा राज्यों से गुर्जर समाज के प्रतिनिधियों ने बुधवार को गुरुग्राम में आयोजित समाज की महापंचायत में भाग लिया. इस महापंचायत ने कई अहम फैसले लिए.

  • Share this:
गुरुग्राम. देश भर के दर्जन भर से ज्यादा राज्यों से गुर्जर समाज के प्रतिनिधियों ने गुरुग्राम के सेक्टर- 61 में में एक महापंचायत की. इस महापंचायत में गुर्जर समाज में फैली बुराइयों को खत्म करने पर चर्चा हुई. शादियों में हथियार, पटाखों, डीजे और शराब पर रोक का प्रस्ताव पारित किया गया. इसके साथ ही बाल विवाह और कन्या भ्रूण हत्या को रोकने के लिए भी ठोस कदम उठाने का निर्णय लिया गया.

दहेज प्रथा और शादियों में बढ़ते खर्च को रोकने के लिए होगा काम 

समाज में बढ़ती दहेज प्रथा और शादियों में बढ़ रही फिजूलखर्ची को रोकने को लेकर भी प्रस्ताव पारित किए गए. कई राज्यों के गुर्जर समाज के प्रतिनिधियों ने दहेज प्रथा और शादियों में बढ़ते जा रहे खर्च पर चिंता जताई. इस महापंचायत में  इस दिशा में काम करने का निर्णय लिया गया. इसमें जम्मू-कश्मीर , गुजरात , महाराष्ट्र, पंजाब, उत्तर प्रदेश , राजस्थान, दिल्ली और हरियाणा के पंच प्रतिनिधि शामिल हुए.

समाज में फैली बुराइयों को खत्म करने में साथ न देने वालों का होगा सामाजिक बहिष्कार

सभी प्रतिनिधियों ने गुर्जर समाज में फैली बुराइयों को खत्म करने की जरूरत पर बल देते हुए निर्णय लिया कि जो भी इन बुराइयों को खत्म करने में समाज का साथ नहीं देगा उसका सामाजिक बहिष्कार किया जाएगा. समाज आईएएस और आईपीएस के अलावा ऊंचे पदों पर पदासीन लोग भी इस महापंचायत में शामिल हुए. उन्होंने जोर देकर कहा कि इस तरह की पंचायतों से समाज को लाभ मिलता है और गुर्जर समाज के युवाओं में एक जोश और जज्बा पैदा होता है. महापंचायत में कहा गया कि समाज को शिक्षा पर भी जोर देने की जरूरत है ताकि गुर्जर समाज सही अर्थों में तरक्की कर सके.



इस महापंचायत में भाग लेने वाले वालों दहेज प्रथा को खत्म करने के लिए समाज के लोगों से आगे आने की अपील की. गुर्जर समाज के सभी लोगों ने पंचायत के इस फैसले का समर्थन किया और कहा कि जो लोग पंचायत में भाग ले रहे हैं, उनके गांव में दहेज और भ्रूण हत्या को रोकने के लिए कड़े कदम उठाए जाएंगे.
Loading...

ये भी पढ़ें- 10 हजार लड़कियों ने एक साथ दिखाए आत्मरक्षा के गुर

होंडा ने निकाले गए 2500 अस्थाई कर्मचारी, बेरोजगार हो रात भर बैठे रहे धरने पर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गुड़गांव से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 6, 2019, 7:59 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...