लाइव टीवी

गुरुग्राम में एक बार फिर कैंसर वार्ड को शुरू करने की तैयारी, जल्द मिलेगी मरीजों को राहत

Neeraj Ambawata | News18 Haryana
Updated: November 18, 2019, 2:23 PM IST
गुरुग्राम में एक बार फिर कैंसर वार्ड को शुरू करने की तैयारी, जल्द मिलेगी मरीजों को राहत
गुरुग्राम के सिविल हॉस्पिटल में जल्द होगा कैंसर मरीजों का इलाज

गुरुग्राम (Gurugram) के सिविल हॉस्पिटल (Civil Hospital) में 3 साल से कैंसर वार्ड (Cancer ward) बंद है. वहीं अस्पताल प्रबंधन (Hospital management) का कहना है कि अब जल्द ही दूसरे डॉक्टरों की मदद से कैंसर वार्ड को दोबारा से मरीजों के लिए खोला जाएगा.

  • Share this:
गुरुग्राम. हरियाणा के गुरुग्राम (Gurugram) के सिविल हॉस्पिटल (Civil Hospital) में 3 साल से कैंसर वार्ड (Cancer ward) बंद है. कभी-कभी यहां जनरल मरीजों का ट्रीटमेंट (Treatment of patients) किया जाता है. अधिकारियों की मानें तो यहां कैंसर का इलाज करने के लिए एक भी डॉक्टर उपलब्ध नहीं हैं. अस्पताल प्रबंधन (Hospital management) का कहना है कि अब जल्द ही दूसरे डॉक्टरों की मदद से कैंसर वार्ड को दोबारा से मरीजों के लिए खोला जाएगा.

गुरुग्राम मेें एक मात्र कैंसर वार्ड तीन साल से पड़ा है बंद 

गुरुग्राम के सिविल हॉस्पिटल में कई सालों से यहां कैंसर के डॉक्टर की कमी है. कैंसर स्पेशलिस्ट डॉक्टर एसपी भरौत ने मार्च 2016 तक सेवा दी, इसके बात उन्होंने रिजाइन (resign) कर दिया, तब से यहां कोई भी डॉक्टर नहीं आया है. सिविल हॉस्पिटल की सीएमओ की माने तो इस बारे में स्वास्थ्य विभाग (health Department) के आला अधिकारियों सूचना दी गई है और जल्द ही यहां कैंसर के स्पेशल डॉक्टर को तैनात किया जाएगा, ताकि मरीजों को परेशानी ना हो. उससे पहले दूसरे डाक्टरों के सहारे कैंसर के मरीजों का इलाज अब गुरुग्राम के सरकारी अस्पताल में किया जाएगा.

हरियाणा में केवल दो ही सरकारी अस्पतालो में हैं कैंसर वार्ड 

 पिछले तीस सालों से गुरुग्राम का कैंसर वार्ड बंद पड़ा है, ऐसे में सिविल अस्पताल में कोई कैंसर का मरीज आता भी हो उसको जरनल डॉक्टर देखते हैं, क्योंकि अस्पताल में कैंसर का स्पेशल डॉक्टर नहीं हैं. प्रदेशभर की बात करें तो केवल दो ही डॉक्टर कैंसर के स्पेशलिस्ट पूरे हरियाणा में हैं, जिसके चलते पीजीआई रोहतक और गुरुग्राम में ही कैंसर वार्ड थे, लेकिन अब गुरुग्राम का कैंसर वार्ड बंद होने के बाद कैंसर के मरीज निजी अस्पतालों की तरफ रुख कर रहे हैं, जिसके चलते उन्हे आर्थिक नुकसान हो रहा हैं. वहीं अब तक गुरुग्राम में पिछले तीन सालों से कैंसर का कोई भी ऑपरेशन नही हुआ, जबकि पहले एक सप्ताह में तीन से चार मरीजों का यहां कैंसर का ऑपरेशन होता था, लेकिन एक बार फिर कैंसर के मरीजों के लिए राहत की खबर है.

यह भी पढ़ें- वादे के पक्‍के निकले बीरेंद्र सिंह, राज्‍यसभा से दिया इस्तीफा, चुनावी राजनीति से संन्‍यास का भी ऐलान

यह भी पढ़ें- पानीपत: बिजली के खंभे से टकराने के बाद धूं-धूं कर जली कार, ड्राइवर ने कूदकर बचाई जान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गुड़गांव से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 18, 2019, 2:22 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...