दूसरी पार्टी छोड़ BJP में आए नेताओं को टिकट नहीं लेने दूंगा: राव इंद्रजीत

राव इंद्रजीत ने कहा कि बहुत से नेता कांग्रेस और लोकदल का सत्यानाश करके भाजपा में आये है ऐसे में इन नेताओं को तरज़ीह ना मिले.

Dharamvir Sharma | News18 Haryana
Updated: September 12, 2019, 6:39 PM IST
दूसरी पार्टी छोड़ BJP में आए नेताओं को टिकट नहीं लेने दूंगा: राव इंद्रजीत
केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह
Dharamvir Sharma | News18 Haryana
Updated: September 12, 2019, 6:39 PM IST
गुरुग्राम. विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) की रणभेरी कभी भी बज सकती है. ऐसे में सभी नेताओं ने अपनी-अपनी राजनीतिक गोटियां फिट करनी शुरू कर दी है. दक्षिण हरियाणा (South Haryana) के कद्दावर नेता और केंद्र में राज्यमंत्री राव इंद्रजीत सिंह (Rao Inderjeet Singh) ने भी दक्षिण हरियाणा में अपनी पकड़ मजबूत रखने के लिए प्रदेश सरकार पर लगातार दबाब बनाते रहे हैं. अब एक बार फिर राव इंद्रजीत सिंह ने साफ कहा कि दक्षिण हरियाणा में दूसरी पार्टीयो से भाजपा में आए नेताओ को टिकट नहीं दी जानी चाहिए.

राव इंद्रजीत ने कहा कि बहुत से नेता कांग्रेस और लोकदल का सत्यानाश करके भाजपा में आये है ऐसे में इन नेताओं को तरज़ीह ना मिले. राव इंद्रजीत सिंह के इस बयान के कई मायने हैं. दरअसल राव इंद्रजीत सिंह दक्षिण में अपनी पकड़ को मजबूत रखना चाहते है इसलिए वो अपने चाहने वालो को टिकेट भी दिलवाना चाहते है.

दक्षिण महरियाणा में गुरुग्राम, कोसली, और नांगल चौधरी के मौजूदा विधायको की टिकट को लेकर सरगर्मियां है कि इन नेताओं का टिकट कट सकता है. क्योंकि गुरुग्राम विधायक ने एक समय मौजूदा सीएम मनोहर लाल का विरोध किया था जिसमें दक्षिण हरियाणा के कई विधायक भी शामिल थे.

राव इंद्रजीत के खास विधायक अब सीएम के पाले में

अब उन विधायको में से कोसली और नांगल चौधरी  के विधायक जो कभी राव इंद्रजीत सिंह के खास होते थे वो आजकल सीएम के पाले में है. इसलिए राव इंद्रजीत सिंह उनकी जगह अपने किसी और समर्थक को टिकट दिलवाना चाहते है. इतना ही नहीं गुरुग्राम विधायक उमेश अग्रवाल भी सीएम से मनमुटाव के बाद अब राव के पाले है इसलिए राव चाहते है कि उमेश की टिकट भी ना कटे.

राव इंद्रजीत सिंह की ख्वाहित नहीं हुई पूरी
राव इंद्रजीत सिंह की हमेशा ही ख्वाहिश रही है कि वो हरियाणा के सीएम बने लेकिन उनकी ये हसरत पूरी नहीं हुई. ये ही वजह है कि हरियाणा में भाजपा सरकार बनने के बाद काफी समय तक राव इंद्रजीत ने सीएम मनोहर लाल के साथ मंच तक साझा नहीं किया और सीएम का एक समय मे विरोध भी करते रहे.
Loading...

खुद कांग्रेस से भाजपा में हुए थे शामिल
राव इंद्रजीत सिंह खुद एक जमाने मे कांग्रेस की राजनीति करते थे लेकिन पूर्व सीएम भूपिंदर हुड्डा से मन मुटाव के बाद साल 2014 में भाजपा में शामिल हुए और सांसद बने. लेकिन अब खुद ही राव इंद्रजीत कांग्रेस नेताओं के साथ-साथ लोकदल के नेताओ का खुलकर विरोध कर रहे हैं. राव इंद्रजीत का दावा है कि दक्षिण हरियाणा में ऐसे किसी भी भारी व्यक्ति को टिकेट नहीं लेने देंगे. अब देखना होगा कि भाजपा की अंदरुनी राजनीति किस ओर जाती है.

ये भी पढ़ें- हरियाणा कांग्रेस की अध्यक्ष बनीं कुमारी शैलजा तो नाराज हुए ये दिग्गज नेता

ये भी पढ़ें- गर्भवती भाभी से संबंध बनाना चाहता था देवर, इनकार करने पर उतारा मौत के घाट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गुड़गांव से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 12, 2019, 5:03 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...