लाइव टीवी

हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019: क्या राहुल गांधी को अपना नेता नहीं मानते भूपेंद्र हुड्डा?

News18Hindi
Updated: October 18, 2019, 6:53 PM IST
हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019: क्या राहुल गांधी को अपना नेता नहीं मानते भूपेंद्र हुड्डा?
भूपेन्द्र हुड्डा पिछले पांच साल से हरियाणा कांग्रेस के अध्यक्ष बनना चाहते थे, लेकिन राहुल गांधी के अध्यक्ष रहते ये मुमकिन नहीं हो पाया.

जब अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) कांग्रेस (Congress) पार्टी के संगठन महासचिव थे तब उन्होंने राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और भूपेंद्र हुड्डा (Bhupinder Hooda) को दिल्ली के ताज मानसिंह होटल में लंच भी करवाया था ताकि कोई समाधान निकल सके. लेकिन पिछले पांच साल में राहुल गांधी और भूपेंद्र हुड्डा के बीच कोई भी निर्णायक बैठक नहीं हो पाई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 18, 2019, 6:53 PM IST
  • Share this:
(अनुराग ढांडा)

नई दिल्ली. महेंद्रगढ़ में राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की चुनावी रैली में एक बार फिर हरियाणा (Haryana) के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस (Congress) नेता भूपेंद्र हुड्डा (Bhupendra Hudda) नहीं पहुंचे. इससे पहले भी हरियाणा के नूह (Nuh) की चुनावी रैली में राहुल गांधी के साथ भूपेंद्र हुड्डा ने मंच साझा नहीं किया था.

जब हुड्डा पर भारी रहे अशोक तवंर
हरियाणा कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अशोक तंवर को राहुल गांधी का करीबी समझा जाता है और यह माना जाता है कि राहुल गांधी की शह पर ही, भूपेंद्र हुड्डा के लगातार विरोध के बावजूद अशोक तंवर हरियाणा कांग्रेस के अध्यक्ष बने रहे थे. पूरी कोशिश करने के बावजूद, जब तक राहुल गांधी कांग्रेस के अध्यक्ष रहे, भूपेंद्र हुड्डा को हरियाणा कांग्रेस की कमान नहीं सौंपी गई.

हुड्डा ने अचानक ऐसे बदला अपना प्रोग्राम
सूत्रों की मानें तो राहुल गांधी, पार्टी में 'बैलेंस ऑफ पावर' बनाए रखने के पक्ष में थे. वह इस बात के लिए तो तैयार थे कि भूपेंद्र हुड्डा को विधानसभा में विधायक दल का नेता बना दिया जाए, लेकिन कैंपेन कमेटी का अध्यक्ष बनाए जाने से हरियाणा में कांग्रेस की पूरी कमान भूपेंद्र हुड्डा के पास चली गई.

कल तक सोनिया गांधी को महेन्द्रगढ़ में रैली करनी थी तो भूपेंद्र हुड्डा के आज के कार्यक्रम में लिखा था कि वो सोनीपत से हेलीकॉप्टर से उड़ेंगे और सोनिया गांधी की रैली में महेन्द्रगढ़ लैंड करेंगे. लेकिन जैसे ही ये तय हुआ कि सोनिया गांधी की जगह राहुल गांधी की रैली होगी तो भूपेंद्र हुड्डा उनकी रैली में नहीं पहुंचे.
Loading...

जब नहीं बदला गया हरियाणा का अध्यक्ष
दरअसल भूपेंद्र हुड्डा पिछले पांच साल से हरियाणा कांग्रेस के अध्यक्ष बनना चाहते थे, लेकिन राहुल गांधी के अध्यक्ष रहते ये मुमकिन नहीं हो पाया. अब जैसे ही राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद से इस्तीफ़ा दिया और सोनिया गांधी कांग्रेस अध्यक्ष बनी तो भूपेंद्र हुड्डा को विधायक दल का नेता बनाया गया और साथ ही इलेक्शन मैनेजमेंट कमेटी की ज़िम्मेदारी दी गई है. एक तरह से ग़ुलाम नबी आज़ाद ने उन्हें पूरे चुनाव की कमान सौंप दी.

लेकिन जब राहुल गांधी अध्यक्ष थे तो हरियाणा के प्रभारी महासचिव के तौर पर रहे कमलनाथ और अशोक गहलोत दोनों की तमाम कोशिशों के बाद भी अशोक तंवर को हरियाणा के अध्यक्ष पद से नहीं हटाया. उस वक़्त भी राहुल गांधी, हुड्डा को विधायक दल का नेता बनाने पर राज़ी थे, लेकिन हुड्डा कभी भी तैयार नहीं हुए.

जब गहलोत की कोशिश भी बेकार हो गई
जब अशोक गहलोत कांग्रेस पार्टी के संगठन महासचिव थे तब उन्होंने राहुल गांधी और भूपेंद्र हुड्डा को दिल्ली के ताज मानसिंह होटल में लंच भी करवाया था ताकि कोई समाधान निकल सके. लेकिन पिछले पांच साल में राहुल गांधी और भूपेंद्र हुड्डा के बीच कोई भी निर्णायक बैठक नहीं हो पाई. अब सवाल यही है कि हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्डा, राहुल गांधी की रैली में नहीं पहुंचे या फिर राहुल गांधी नहीं चाहते कि वो हुड्डा के साथ मंच साझा करें?

इस पर क्या बोले भूपेन्द्र हुड्डा
राहुल गांधी की रैली में ना पहुंच पाने को लेकर भूपेंद्र सिंह हुड्डा का आरोप है कि हेलीकॉप्टर उतारने की परमिशन देने के बाद परमिशन कैंसिल की गई. पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा को हेलिपैड की परमिशन देने के बाद भी ऐन मौके पर बीजेपी सरकार द्वारा परमिशन कैंसिल कर दी गई. जिसके कारण सोनीपत शहर और महेंद्रगढ़ के प्रोग्रामों में हुड्डा नहीं पहुंच सके. हुड्डा ने कहा कि बीजेपी सरकार डरी हुई है. उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार हमारे चुनाव अभियान को रोककर कांग्रेस का राज आने से नहीं रोक सकती है.

 

ये भी पढ़ें-

BHU में बोले Amit Shah ‘कब तक हम वामपंथियों-इतिहासकारों को गाली और दोष देंगे’  

FSSAI की रिपोर्ट में हुआ खुलासा, देश मे 41 फीसदी दूध की क्वालिटी ठीक नही है

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 18, 2019, 6:16 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...