लाइव टीवी

Haryana Election Results 2019: भूपेन्द्र हुड्डा पर पहले भरोसा जताया होता तो इतना संघर्ष नहीं कर रही होती कांग्रेस

News18Hindi
Updated: October 24, 2019, 10:47 AM IST
Haryana Election Results 2019: भूपेन्द्र हुड्डा पर पहले भरोसा जताया होता तो इतना संघर्ष नहीं कर रही होती कांग्रेस
खट्टर सरकार ने हरियाणा में विकास का कोई काम नहीं किया : भूपेंद्र हुड्डा

देरी से आने के बावजूद आज हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019 (Haryana Assembly Election 2019) में भूपेन्द्र हुड्डा (bhupinder hooda) ने कांग्रेस (Congress) को एक सम्मानजन आंकड़ा पर लाकर खड़ा कर दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 24, 2019, 10:47 AM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. एक बार फिर भूपेन्द्र हुड्डा (Bhupinder Hooda) हरियाणा (Haryana) में कांग्रेस (Congress) का चेहरा बनते नजर आ रहे हैं. ये बात अलग है कि कांग्रेस ने उन्हें लाने में देर कर दी. लेकिन हरियाणा में कांग्रेस को ऑक्सीजन मिलना शुरू हो गया है. वोटों की गिनती के अभी तक के रुझान (Voting Trends) कुछ इसी ओर इशारा कर रहे हैं. शुरुआती रुझानों में कांग्रेस और बीजेपी के बीच कोई खास अंतर नहीं है. लेकिन बड़ी बात ये है कि अभी दोनों ही पार्टियां बहुमत के आंकड़े से पीछे हैं.

सिर्फ 15 दिन पहले भूपेन्द्र हुड्डा को दी गई थी कमान

हरियाणा के वरिष्ठ पत्रकार राजुउद्दीन जंग बताते हैं कि चुनाव की तैयारी के दौरान ही पूर्व सीएम भूपेन्द्र हुड्डा को हरियाणा में कांग्रेस को चुनाव लड़ाने की कमान सौंपी गई थी. एक मोटे अनुमान के अनुसार चुनाव में काम करने के लिए भूपेन्द्र हुड्डा को शायद 15 दिन से ज्यादा का वक्त नहीं मिला. बावजूद इसके अपनी पुरानी सियासी जमीन का फायदा उठाते हुए उन्होंने कांग्रेस को सम्मानजनक आंकड़े पर लाकर खड़ा कर दिया है.

बिना संगठन भूपेन्द्र हुड्डा ने मुकाम बनाया 

राजुउद्दीन जंग का कहना है कि अगर एक और बात पर गौर करें तो बीते कई साल से हरियाणा में कांगेस बिना संगठन के ही अपनी मौजूदगी दर्ज करा रही थी. यहां तक की कांग्रेस हाईकमान ने भूपेंद्र सिंह हुड्डा को हरियाणा में चेहरा बनाने और कुमारी शैलजा को प्रदेश अध्यक्ष बनाने का फैसला विधानसभा चुनाव ऐलान से महज 15 दिन पहले लिया है. ऐसे में सवाल उठता है कि अगर यह फैसला थोड़ा पहले हो गया होता तो आज हरियाणा की तस्वीर और ज्यादा बदली हुई नजर आती.

ये भी पढ़ें-

दुकानदार ने प्लास्टिक की थैली में नहीं दिया सामान, गुस्साए ग्राहक ने पीट-पीटकर मार डाला
Loading...

कमलेश तिवारी मर्डर केस: नेपाल बॉर्डर तक पहुंच गए थे आरोपी, फिर इस कारण लौटे थे गुजरात

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 24, 2019, 10:27 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...