लाइव टीवी

Haryana Election Results 2019: जीते तो सियासी इतिहास लिखेंगे BJP के ये दो मुस्लिम उम्मीदवार

News18Hindi
Updated: October 24, 2019, 11:42 AM IST
Haryana Election Results 2019: जीते तो सियासी इतिहास लिखेंगे BJP के ये दो मुस्लिम उम्मीदवार
बीजेपी ने मुस्लिम बहुल इलाके मेवात में दो मुस्लिम उम्मीदवारों को टिकट दिया है.

बीजेपी (BJP) ने दो ऐसे मुस्लिम उम्मीदवारों (Muslim Candidate) पर दांव लगाया है जो अगर जीते तो खुद का इतिहास तो लिखेंगे ही लेकिन एक लम्बे अर्से बाद मेवात (Mewat) में बीजेपी का खाता खोलेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 24, 2019, 11:42 AM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. इस बार का हरियाणा विधानसभा चुनाव (Haryana Assembly Election 2019) इस बार कई मायनों में दिलचस्प है. सीएम मनोहर लाल खट्टर (CM Manohar lal khattar) की जहां ये दूसरी पारी है तो मुस्लिम (Muslim) बहुल मेवात (Mewat) जिले में बीजेपी (BJP) के दो ऐसे मुस्लिम उम्मीदवार (Muslim Candidate) हैं जिन्हें इतिहास लिखने का मौका दिया है.

मेवात की नूंह और फिरोजपुर झिरका पर पर लगी निगाहें

हरियाणा के मेवात को मुस्लिम बहुल इलाका कहा जाता है. इस जिले की नूंह और फिरोजपुर झिरका सीट पर बीजेपी ने दो मुस्लिम उम्मीदवारों को टिकट दिया है. नूंह से सियासत के पुराने खिलाड़ी जाकिर हुसैन और फिरोजपुर झिरका सीट से नसीम अहमद पर बीजेपी ने भरोसा जताया है. खास बात है कि ये दोनों ही उम्मीदवारों का एक पुराना सियासी सिज़रा (इतिहास) भी है. नसीम अहमद जहां हैट्रिक लगाने की कोशिश में हैं तो ज़ाकिर हुसैन खानदान की परंपरा को आगे बढ़ाते हुए चौथी जीत दर्ज करना चाहेंगे.

हरियाणा में इसलिए खास हो जाते हैं ज़ाकिर

मेवात के वरिष्ठ पत्रकार राजुउद्दीन का कहना है, 'नूंह से बीजेपी उम्मीदवार ज़ाकिर हुसैन को सियासत का तोहफा विरासत में मिला है. उनके पिता तीन अलग-अलग राज्यों- पंजाब, राजस्थान और हरियाणा से चुनाव लड़कर कैबिनेट मंत्री बने थे. गेम शो केबीसी के सातवें सीजन में उन पर एक सवाल भी पूछा गया था. वहीं दूसरी ओर ज़ाकिर हिंदू-मुस्लिम की 36 बिरादरी के चौधरी भी हैं. इससे पहले ज़ाकिर हुसैन सोहना में जीत हासिल करते रहे हैं.'

जीतेंगे और जितांऐ की मंशा से लगाया दांव

राजुउद्दीन कहते हैं, 'ज़ाकिर हुसैन को टिकट देकर बीजेपी ने एक तीर से दो निशाना साधा है. ज़ाकिर हुसैन का मेव बिरादरी में अच्छा दखल है. जबकि इससे पहले वो सोहना विधानसभा से चुनाव जीत चुके हैं. सोहना सीट मुस्लिम बहुल बताई जाती है. बीजेपी ने इस बार यहां से संजय सिंह को टिकट दिया है. अब संजय सिंह नूंह में ज़ाकिर हुसैन के लिए गैर-मुस्लिम वोटों की लामबंदी कर रहे हैं तो ज़ाकिर हुसैन सोहना में संजय सिंह के लिए मुस्लिम वोटों की. जबकि कांग्रेस के डॉ. शमशुद्दीन इस सीट से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. लेकिन उन पर बाहरी होने का ठप्पा लगा हुआ है.'
Loading...

नसीम अहमद के जरिए बीजेपी ने कइयों पर साधे निशाने

फिरोजपुर झिरका विधानसभा भी मेवात जिले में आती है. यहां से बीजेपी ने आईएनएलडी छोड़कर आए मौजूदा विधायक नसीम अहमद को अपना उम्मीदवार बनाया है. वर्ष 2014 में नसीम ने इस सीट पर जीत दर्ज की थी, जबकि बीजेपी उम्मीदवार 16,540 वोट लेकर तीसरे स्थान पर रहा था. यह सीट मुस्लिम बहुल बताई जाती है. राजुउद्दीन बताते हैं, 'नसीम अहमद जिस गोत्र से आते हैं उसके यहां एक लाख वोट हैं. जबकि इस सीट पर कुल वोटों की संख्या 2.60 लाख है. जबकि एक अच्छा नंबर बीजेपी के वोटरों का भी है.'

पहले राउंड के बाद क्या कहती है वोटों की गिनती 

दूसरे राउंड की गिनती के बाद मेवात की नूंह विधानसभा में ज़ाकिर हुसैन (बीजेपी) 3186 और आफताब (कांग्रेस) 2270 वोट लेकर दूसरे स्थान पर चल रहे हैं. 11वें राउंड की गिनती के बाद फिरोजपुर झिरका विधानसभा में मामन (कांग्रेस) 3359 और नसीम अहमद (बीजेपी) 5040 वोट लेकर कांग्रेस उम्मीदवार के मुकाबले पहले स्थान पर चल रहे हैं.

ये भी पढ़ें-

दुकानदार ने प्लास्टिक की थैली में नहीं दिया सामान, गुस्साए ग्राहक ने पीट-पीटकर मार डाला

कमलेश तिवारी मर्डर केस: नेपाल बॉर्डर तक पहुंच गए थे आरोपी, फिर इस कारण लौटे थे गुजरात

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 24, 2019, 9:00 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...