अपना शहर चुनें

States

बड़ी खबर: हरियाणा में कक्षा तीन से पांचवीं तक के बच्चों के लिए 24 फरवरी से खुलेंगे स्कूल, ये होगी क्लास की टाइमिंग

 हरियाणा में तीसरी से पांचवीं कक्षा तक के स्कूल बुधवार से खुलेंगे.(प्रतीकात्मक चित्र)
हरियाणा में तीसरी से पांचवीं कक्षा तक के स्कूल बुधवार से खुलेंगे.(प्रतीकात्मक चित्र)

हरियाणा (Haryana) में कक्षा तीसरी से पांचवीं तक के स्टूडेंट्स (Students) के लिए 24 फरवरी से स्कूल (School) खुल जाएंगे. कोरोना काल में लंबे समय तक स्कूल बंद रखने के बाद मनोहर लाल सरकार (Manohar Lal Government) ने यह फैसला लिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 22, 2021, 8:00 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. हरियाणा (Haryana) में कक्षा 3 से 5 पांचवीं तक के छात्रों के लिए स्कूल (School) 24 फरवरी से फिर से खुलने जा रहे हैं. इन स्टूडेंट्स की कक्षाएं प्रतिदिन सुबह 10 बजे से दोपहर 1:30 बजे तक आयोजित की जाएंगी. इसके पहले आठवीं कक्षा तक के स्टूडेंट्स के लिए 27 जुलाई से स्कूल खुल चुके हैं.

हरियाणा शिक्षा विभाग (Haryana Education Department) ने कक्षा तीसरी से पांचवीं तक के बच्चों के लिए 24 फरवरी से स्कूल खोलने की घोषणा की है. बता दें कि हरियाणा में कोरोना महामारी के बाद स्कूल-कॉलेज बंद थे, जिनको सरकार एक-एक करके खोल रही है.


अगर स्‍टूडेंट ऑनलाइन क्‍लास चाहेंगे तो यह क्‍लास भी उनके लिए जारी रखी जाएंगी.स्‍कूल फिर से खोलने के दौरान कोविड-19 से संबंधित सभी ऐहतियातों मसलन, स्‍टूडेंट्स के बीच फिजिकल डिस्‍टेंसिंग और तापमान की जांच करने का पालन किया जाएगा.



बता दें कि हरियाणा में कक्षा छठवीं से आठवीं तक के स्कूल एक फरवरी से खुल गये हैं. इसके पहले भी स्कूलऔर शिक्षा विभाग ने स्कूलों में कोरोना गाइडलाइनस का पालने करने का आदेश दिया था. साथ ही छात्रों को किसी भी स्वास्थ्य केंद्र या डॉक्टर से एक प्रमाण पत्र लाने के लिए कहा था, जिसमें कोविड-19 का कोई लक्षण ना हो.

पहले हरियाणा सरकार ने एक आदेश में कहा था कि एक फरवरी से स्कूल में आने वाले स्टूडेंट्स को अभिभावकों की लिखित मंजूरी के साथ ही बच्चों को स्वास्थ्य जांच रिपोर्ट भी जमा करानी होगी. हालांकि स्कूल खुलने के बावजूद आनलाइन कक्षाओं का विकल्प खुला रहेगा. जो तीसरी से पांचवी तक के बच्चों के लिए आज भी खुला रहेगा. स्कूल शिक्षा निदेशक ने सभी जिला शिक्षा अधिकारियों, मौलिक शिक्षा अधिकारियों, खंड शिक्षा अधिकारियों और जिला परियोजना समन्वयक को इस संबंध में लिखित आदेश जारी किया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज