Home /News /haryana /

हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला, 47 सरकारी स्कूलों को बनाया इंग्लिश मीडियम, जानिए कितनी होगी फीस

हरियाणा सरकार का बड़ा फैसला, 47 सरकारी स्कूलों को बनाया इंग्लिश मीडियम, जानिए कितनी होगी फीस

हरियाणा सरकार ने प्रदेश की 47 सरकारी स्कूलों को अंग्रेजी मीडियम बना दिया है.

हरियाणा सरकार ने प्रदेश की 47 सरकारी स्कूलों को अंग्रेजी मीडियम बना दिया है.

हरियाणा सरकार (Haryana Government) ने दिल्ली (Delhi) की तर्ज पर 7 सीनियर सेकेंड्री सरकारी स्कूल (School) और 40 प्राइमरी सरकारी स्कूलों को इंग्लिश मीडियम (English Medium) बनाया है. सरकार इन स्कूलों में बच्चों के जरिए बच्चों को अच्छी शिक्षा दिलाने का काम करेगी.

अधिक पढ़ें ...
अंबाला. दिल्ली (Delhi) की तर्ज पर अब हरियाणा सरकार (Haryana Government) ने भी नए सत्र से सरकारी स्कूलों (Government Schools) में शिक्षा के स्तर व सुविधाओं को बढ़ाने के लिए प्रयास शुरू कर दिया है. इसी कड़ी के तहत अंबाला में 7 सीनियर सेकेंडरी सरकारी स्कूल और 40 प्राइमरी सरकारी स्कूलों को इंग्लिश मीडियम बनाया गया है और सीबीएससी के साथ अनुबंध किया गया है.

सरकारी स्कूलों को इंग्लिश मीडियम बनाने की घोषणा के साथ ही वहां एडमिशन लेने के इच्छुक बच्चों के अभिभावक स्कूलों में पहुंचने लगे हैं. वहीं कुछ अभिभावक प्राइवेट स्कूलों से बच्चों को हटाकर सरकारी इंग्लिश मीडियम स्कूल में दाखिला दिला रहे हैं. अंबाला शहर के गांव भोनोखेड़ी में बने गर्वमेंट स्कूल को गर्वमेंट मॉडल संस्कृति सीनियर सेकेंडरी स्कूल बनाया गया है, जिसमें सरकार की ओर से सभी सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा रही हैं.

इंग्लिश मीडियम के लिए स्टाफ उपलब्ध करवाया जा रहा है और जो भी डिमांड है वह पूरी की जा रही है. छठवीं क्लास से लेकर 8वीं तक 35 बच्चों का सेक्शन बनाया गया है. इसी तरह 9वीं से 12वीं तक 40 बच्चों का एक सेक्शन बनाया गया है. गर्वमेंट मॉडल संस्कृति सीनियर सेकेंडरी स्कूल, अंबाला की  प्रिंसिपल नीलम गुप्ता ने कहा कि सरकार ने जो कदम उठाया है उसका बहुत अच्छा रिसपांस मिल रहा है और अभिभावक प्राइवेट स्कूलों से बच्चों को हटाकर हमारे स्कूल में दाखिला दिलाने के लिए आ रहे हैं.

Haryana News: खट्टर सरकार ने गेहूं खरीद के नियम बदले, अब बिना मैसेज मंडी में जाने वाले किसानों की भी फसल खरीदी जाएगी

हरियाणा में सरकार पहली से लेकर आठवीं तक मुफ्त एजुकेशन उपलब्ध करवाती है, लेकिन इन इंग्लिश मीडियम स्कूलों में सरकार ने कुछ फीस निर्धारित की है. स्कूल की प्रिंसिपल ने बताया कि 6वीं से 80वीं तक 300 रुपए हर महीने फीस रखी गई है. इसके साथ ही 9वीं व 10वीं की 500 रुपए तथा 11वीं व 12वीं की 500 रुपए फीस निर्धारित की गई है. इसके अलावा 134ए व अन्य सुविधा भी दी जा रही हैं. इसके अलावा बच्चों के अभिभावकों को 1000 रुपए एडमिशन फीस भी देनी होगी.

अंबाला के डिप्टी डीईओ सुधीर कालड़ा ने कहा कि सरकारी स्कूलों में प्राइवेट स्कूलों से बेहतर शिक्षा दी जाए, इसी सोच के साथ सरकार की तरफ से 40 प्राइमरी व 7 सीनियर सेकेंडरी स्कूलों को इंग्लिश मीडियम किया गया है. जो सीनियर सेकेंडरी स्कूल हैं, उनका सीबीएसई के साथ अनुबंध किया गया है, जबकि प्राइमरी स्कूलों में इंग्लिश मीडियम किया गया है. स्कूलों में बच्चों को खेलों, लैब, मैदान सहित सभी सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा रही हैं. इसी के साथ ही सरकार की तरफ से जो भी सुविधाएं आएगी, वह उपलब्ध करवा दी जाएगी.

Tags: Ambala news, CM Manohar Lal Khattar, Government School, Haryana news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर