किसान ना हों परेशान, कपास की फसल के नुकसान का मुआवजा देगी हरियाणा सरकार
Rohtak News in Hindi

किसान ना हों परेशान, कपास की फसल के नुकसान का मुआवजा देगी हरियाणा सरकार
हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर.(फाइल फोटो)

हरियाणा सरकार(Government of Haryana) के कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव संजीव कौशल ने घोषणा की है कि जिन किसानों (Farmers) की कपास की फसल बर्बाद हुई है उनको सरकार मुआवजा (Compensation) देगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 7, 2020, 8:02 PM IST
  • Share this:
चंडीगढ़. हरियाणा सरकार राज्य के उन सभी कपास उत्पादकों को मुआवजा देगी, जिनकी फसल को हाल ही में सफेद मक्खी और पैराविल्ट ने नष्ट कर दिया था. कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव संजीव कौशल ने सोमवार को बताया कि ऐसे सभी कपास उत्पादकों, चाहे वह ‘प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना’ के तहत पंजीकृत हैं या नहीं, सभी को हरियाणा सरकार मुआवजा देगी.

उन्होंने कहा कि हमने राजस्व विभाग से अनुरोध किया गया था कि वे उन कपास उत्पादकों के खेतों में समयबद्ध तरीके से विशेष गिरदावरी करें, जिन्होंने फसल बीमा योजना के तहत पंजीकरण नहीं कराया है. जिन लोगों ने योजना के तहत पंजीकरण कराया है उनको फसल कटाई प्रयोगों के दौरान नुकसान के आकलन के आधार पर मुआवजा दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि किसानों को व्यक्तिगत रूप से आवेदन करने की जरूरत नहीं है क्योंकि नुकसान का आकलन ग्राम स्तर पर किया जाएगा.

हरियाणा: किसान का सफेद सोना मिट्टी में मिला, कपास की 90 प्रतिशत फसल बर्बाद
कौशल ने कहा कि सिरसा, हिसार, फतेहाबाद, जींद और भिवानी जिलों में सफेद मक्खी के हमलों की रिपोर्ट के बाद विभाग ने कपास उत्पादकों को उनकी फसलों पर दो या इससे अधिक कीटनाशकों के मिश्रण का उपयोग करने के प्रति आगाह किया था. इसके बजाय किसानों को सफेद मक्खी और पैराविल्ट से निपटने के लिए नीम-आधारित उपचार का उपयोग करने और फसल की निगरानी करने की विशेष तौर पर सिंचाई या बारिश के बाद सलाह दी जाती है.उन्होंने कहा कि कीटनाशकों के सही तरीके से उपयोग के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए प्रभावित जिलों में एक जागरूकता अभियान भी शुरू किया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज