लाइव टीवी

हरियाणा पॉलिटिक्स: निर्दलीय विधायकों में नाराजगी की ये है पूरी कहानी!
Chandigarh-City News in Hindi

ओम प्रकाश | News18Hindi
Updated: February 28, 2020, 10:51 AM IST
हरियाणा पॉलिटिक्स: निर्दलीय विधायकों में नाराजगी की ये है पूरी कहानी!
सीएम मनोहर लाल खट्टर (फाइल फोटो)

नाराज निर्दलीय विधायक बलराज कुंडू ने बीजेपी की मनोहरलाल खट्टर सरकार से समर्थन वापस ले लिया है, क्या इससे खट्टर सरकार पर है कोई खतरा?

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 28, 2020, 10:51 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. हरियाणा की सियासत में एक बार फिर हलचल शुरू हो गई है. वजह बने हैं मनोहरलाल खट्टर सरकार को समर्थन दे रहे निर्दलीय विधायक बलराज कुंडू. यहां भाजपा सरकार निर्दलीय विधायकों और जन नायक जनता पार्टी (जेजेपी) के समर्थन वाली बैसाखी पर खड़ी है. जेजेपी के विधायक रामकुमार गौतम पहले ही मंत्री पद न मिलने की वजह से नाराज हैं. वैसे जब तक इस सरकार को दुष्यंत चौटाला का समर्थन हासिल है तब तक सरकार को निर्दलीय विधायकों की नाराजगी से कोई खतरा नहीं है.

कितने निर्दलीय विधायकों को मिला पद

बीजेपी को जब हरियाणा में बहुमत नहीं मिला तो पहले वो निर्दलीय विधायकों के समर्थन से सरकार बनाना चाहती थी. लेकिन बाद में जेजेपी को शामिल कर लिया जिससे उसका दबाव कम हो गया और सभी सात निर्दलीय विधायकों को मंत्री पद देने से उसे मुक्ति मिल गई. चुनाव में बीजेपी को 40, जेजेपी को 10 जबकि निर्दलीय को 7 सीटें मिली थीं.

 haryana politics,  latest news of haryana, bjp, jjp, Independent MLA of haryana, Balraj Kundu, rohtak, Manish Grover, manohar lal  Khattar, dushyant chautala, हरियाणा की राजनीति, हरियाणा की ताजा खबर, बीजेपी, जेजेपी, हरियाणा के निर्दलीय विधायक, बलराज कुंडू, रोहतक, मनीष ग्रोवर, मनोहर लाल खट्टर, दुष्यंत चौटाला
बीजेपी ने निर्दलीय विधायकों के सहयोग से बनाई है सरकार




>>सरकार गठन के बाद ओम प्रकाश चौटाला के छोटे भाई और रानिया से निर्दलीय विधायक रणजीत सिंह को कैबिनेट मंत्री बनाया गया.

>>इसके बाद अब 4 विधायकों को बोर्ड व निगमों का चेयरमैन बना दिया गया. पांच विधायकों को पद देकर उन्हें शांत कर दिया गया है.

>>सिर्फ 2 निर्दलीय विधायक बचे हैं, जिन्हें कोई पद नहीं मिला. इसमें महम (रोहतक) से विधायक बलराज कुंडू और बादशाहपुर (गुड़गांव) से विधायक राकेश दौलताबाद शामिल हैं.

>>चर्चा है कि कुंडू मंत्री पद की दौड़ में थे लेकिन पूर्व सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर के चलते उनका पत्ता कट गया. इस वजह से कुंडू मनीष ग्रोवर के बहाने मनोहरलाल खट्टर पर हमलावर हैं.

किस निर्दलीय को क्या मिला

>>रणजीत चौटाला को कैबिनेट मंत्री बनाकर बिजली विभाग जैसा मलाईदार महकमा दिया गया है. इसी परिवार से दुष्यंत चौटाला हैं जो डिप्टी सीएम हैं. निर्दलीय विधायकों में अंदरखाने इस बात की भी नाराजगी है कि आखिर एक ही परिवार के दो लोग कैसे आठ सदस्यीय कैबिनेट में शामिल हैं.

>>चरखी दादरी से बीजेपी की बबिता फोगाट को हराकर निर्दलीय जीते सोमवीर सांगवान को हरियाणा पशुधन विकास बोर्ड का चेयरमैन बनाया गया है.

>>पुंडरी के विधायक रणधीर सिंह गोलेन हरियाणा पर्यटन निगम के चेयरमैन बनाए गए हैं.

>>पृथला से निर्दलीय जीते नयनपाल रावत हरियाणा भंडारण निगम के चेयरमैन बनाए गए हैं.

>> नीलोखेड़ी के विधायक धर्मपाल गोंदर हरियाणा वन विकास निगम का चेयरमैन बनाए गए हैं. गोंदर भी बीजेपी के बागी थे.

 haryana politics,  latest news of haryana, bjp, jjp, Independent MLA of haryana, Balraj Kundu, rohtak, Manish Grover, manohar lal  Khattar, dushyant chautala, हरियाणा की राजनीति, हरियाणा की ताजा खबर, बीजेपी, जेजेपी, हरियाणा के निर्दलीय विधायक, बलराज कुंडू, रोहतक, मनीष ग्रोवर, मनोहर लाल खट्टर, दुष्यंत चौटाला
बलराज कुंडू ने लगाए भ्रष्टाचार के आरोप.


कुंडू की नाराजगी की दो वजह

>>बलराज कुंडू विधानसभा चुनाव 2019 से पहले भाजपा में ही थे. वो रोहतक जिला परिषद के चेयरमैन भी रह चुके हैं. पार्टी ने उनकी टिकट काटी तो निर्दलीय चुनाव लड़े और जीत हासिल की, लेकिन बीजेपी सरकार को समर्थन देने के बाद भी उन्हें कोई पद नहीं मिला. इससे वो नाराज हैं.

>>चर्चा है बलराज कुंडू का पत्ता पूर्व सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर ने काटा इसलिए वो नाराज हैं. हरियाणा की सहकारी शुगर मिलों में भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कुंडू ने मनोहरलाल खट्टर सरकार से समर्थन वापस ले लिया. उन्होंने पूर्व सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए थे लेकिन विधानसभा में सीएम ने ग्रोवर को क्लीनचिट दे दी, जिससे कुंडू की नाराजगी बढ़ गई.

हरियाणा के वरिष्ठ पत्रकार नवीन धमीजा का कहना है कि बलराज कुंडू या अन्य निर्दलीय विधायकों की नाराजगी से मनोहरलाल सरकार पर कोई संकट नहीं है लेकिन ये अच्छे संकेत नहीं हैं.

ये भी पढ़ें:  राज्यसभा: 55 सीटों पर चुनाव के बाद भी बहुमत में नहीं आएगी बीजेपी! 

किसानों को उत्‍पादक संगठन बनाने के लिए अब मोदी सरकार देगी 15-15 लाख रुपए, बस करना होगा ये काम…!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चंडीगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 28, 2020, 10:51 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर