हिसार: 3 पुलिसवालों को लहूलुहान कर बाल सुधार गृह से 17 बाल कैदी फरार

हिसार जिला पुलिस की 15 टीमें गठित
हिसार जिला पुलिस की 15 टीमें गठित

17 Child Prisoners Escaped: एसपी स्वयं कर रहे मामले की मॉनिटरिंग. पूरे जिले में नाकाबंदी. बाल कैदियों की तलाश में सभी नाकों पर सख्‍ती बढ़ाई गई है.

  • Share this:
हिसार. हरियाणा के हिसार जिले में बड़ी वारदात सामने आई है. बरवाला रोड स्थित बाल सुधार गृह (juvenile home) से सोमवार शाम को 17 बाल कैदी फरार हो गए. बाल कैदियों को शाम के भोजन के लिए बाहर निकाला जा रहा था. पहले से ही हमले की फिराक में तैयार बाल कैदियों ने जेल सुपरिंटेंडेंट समेत 3 सुरक्षाकर्मियों पर हमला कर दिया. कैदियों ने जेल वार्डनों से चाबी छीनी और मेन गेट का ताला खोलकर भाग निकले. घायलों को सिविल अस्पताल (Civil Hospital) में भर्ती करवाया गया है.

मेन गेट की सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मी चंद्रकांत और तलविंद्र को सिर पर गहरी चोट आई है. इनका सिविल अस्पताल में उपचार चल रहा है. भागने वाले कैदियों में अधिकतर रोहतक व झज्जर जिले के हैं. ये बाल कैदी हत्या व मारपीट जैसे केस में सजा काट रहे थे. जेल से निकलकर सभी कैदी हरियाणा भूमि सुधार एवं विकास निगम (एचएलआरडीसी) के जंगलों की तरफ भाग निकले. जैसे ही कैदियों के भागने की सूचना हिसार पुलिस को मिली, तुरंत पूरे जिले और साथ लगते जिलों में सूचना भेज दी गई.

हिसार में 100 से ज्यादा पुलिसकर्मी इन 17 कैदियों की तलाश में जुटे हैं. इसके अलावा जिले के सभी नाके एक्टिव कर दिए गए हैं. इन सभी कैदियों द्वारा लूट व छीना झपटी की आशंका को देखते हुए सभी थानों व चौकियों को अलर्ट कर दिया है.



ऐसे दिया घटना को अंजाम
सभी कैदियों को शाम के भोजन के लिए बैरक से बाहर निकाला गया. जेल के कर्मचारी खाना परोसने की तैयारी कर रहे थे. इसी दौरान पहले से ही प्लानिंग करके बैठे कैदियों ने अंदर बैठे सुपरिंटेंडेंट के सिर पर हमला कर दिया. वह कुछ समझ पाता उससे पहले कैदियों ने धक्का देकर जमीन पर गिरा दिया और जेल के मुख्य गेट की तरफ भाग निकले. गेट पर तैनात पुलिस के दो जवानों ने कैदियों को रोकने का प्रयास किया तो दोनों के बीच सात से दस मिनट तक हाथापाई और डंडे चले.

कैदियों की संख्या थी अधिक
कैदियों की संख्या अधिक होने के कारण दोनों जवान घायल होकर जमीन पर गिर पड़े. कैदियों ने एक जवान की जेब से गेट की चाबी निकाली और ताला खोलकर जंगल की तरफ भाग गए. इसके बाद लहूलुहान सपरिंटेंडेंट कुलदीप सदर थाना पहुंचे और वहां से पुलिस बल के साथ कैदियों को खोजने के लिए निकल पड़े. काफी देर खोजने के बाद जब कैदी हाथ नहीं लगे तो इसकी सूचना पुलिस अधीक्षक को दी गई. एसपी ने आईजी को घटना से अवगत करवाया. आईजी ने पूरी रेंज की पुलिस को एक्टिव कर दिया.

एसपी और डीएसपी मौके पर पहुंचे
घटना की सूचना मिलते ही एसपी ने जिले के सभी नाके एक्टिव कर दिए. सभी थानों व चौकियों की पुलिस को रातभर बाहर रहकर अपने-अपने एरिये में सर्च करने के आदेश कर दिए हैं. एसपी बलवान सिंह राणा ने तीन डीएसपी के साथ बाल सुधार गृह का निरीक्षण किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज