हिसार: फर्जी कागजात तैयार कर 5.85 लाख रुपये में बेची गाड़ी, 3 के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज

कार बेचने के नाम पर धोखाधड़ी (कॉन्सेप्ट इमेज)

कार बेचने के नाम पर धोखाधड़ी (कॉन्सेप्ट इमेज)

Crime in Hisar: आरोपी ने न तो गाड़ी के असली कागजात उसे दिया और न ही गाड़ी उसके नाम करवाई जिसको लेकर पुलिस (Police) को शिकायत भी दे रखी है.

  • Share this:

हिसार. सदर थाना पुलिस ने गाड़ी की नकली आरसी देकर धोखाखड़ी से गाड़ी बेचने के मामले में तीन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. पुलिस (Police) को दी शिकायत में खोखा जिला हिसार (Hisar) निवासी जंगबीर ने बताया कि वह खेतीबाड़ी का काम करता है और संगम विहार दिल्ली निवासी सन्दीप यादव को व्यक्तिगत तौर से जानता है जिसने अपने दोस्त अशोक विहार दिल्ली निवासी राजीव की गाड़ी 5 लाख 85 हजार रुपये की 22 दिसम्बर 2020 को नकदी देकर दिलवाई थी. गाड़ी के सभी कागजात राजीव के नाम थे.

5 लाख 85 हजार रुपये संदीप यादव व उसका दोस्त सुशील वर्मा उसी दिन भाटला बस अड्डे से लेकर गये थे और उसे गाड़ी की डूप्लीकेट आरसी देकर चले गये थे. शिकायत में जंगबीर ने बताया कि उसके अगले दिन 23 दिसम्बर 2020 को अपने दोस्त सैनीपुरा निवासी संदीप नायक के नाम गाड़ी का एग्रीमेंट करवाया था. जंगबीर ने बताया कि संदीप यादव ने कहा कि वह एक महीने के अंदर ही गाड़ी की एनओसी व बाकि कागजात उसके नाम करवा देगा. लेकिन समय पूरा होने के बाद भी अपने चाचा की मौत का बहाना बनाकर वह आनाकानी करने लगा और संदीप ने उसके फोन उठाने भी बंद कर दिया.

शिकायत में जंगबीर ने बताया कि संदीप ने न ही तो गाड़ी के असली कागजात उसे दिया और न ही गाड़ी उसके नाम करवाई जिसको लेकर उन्होंने पालम विहार थाना, गुरुग्राम में संदीप के खिलाफ 9 अप्रैल 2021 को शिकायत भी दे रही है. जंगबीर ने आरोप लगाया है कि संदीप यादव, राजीव कुमार व सुशील कुमार ने उसे जो गाड़ी की जो डूप्लीकेट आरसी दी है उसमें गाड़ी के इंजन व चैसिस नंबर अलग अलग है. उपरोक्त तीनों ने मिलकर धोखाधड़ी से फर्जी कागजात तैयार कर उसे गाड़ी बेची है. पुलिस ने जंगबीर की शिकायत पर तीनों के खिलाफ धोखाधड़ी व अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज