Agriculture Bill 2020: हरियाणा के किसान 20 को करेंगे चक्का जाम, 25 को बंद का ऐलान!

बिल के विरोध में किसानों ने बंद का ऐलान किया है.
बिल के विरोध में किसानों ने बंद का ऐलान किया है.

Agriculture Bill 2020 Protest: भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष गुरनाम सिंह ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि न्यूनतम समर्थन मूल्य (Minimum Support Price), किसान कर्जा मुक्ति को लेकर पूरे देश में किसान आंदोलन कर रहे हैं.

  • Share this:
हिसार. भारतीय किसान यूनियन (Bharatiya Kisan Union) के प्रदेश अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी हिसार में भारतीय किसान संघर्ष समिति के धरने पर पहुंचे और किसानों को अपना समर्थन दिया. गुरनाम सिंह ने धरने पर पहुंचकर किसानों को संबोधित किया और ऐलान किया कि 20 सितंबर को रोड जाम किया जाएगा. वहीं 25 सितंबर को पूरा भारत बंद किया जाएगा. पत्रकारों से बातचीत करते हुए गुरनाम सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा 3 अध्यादेश लाए जा रहे हैं वह किसानों के हित में नहीं है. इन अध्यादेशों को लेकर आज पूरे देश का किसान धरना प्रदर्शन (Protest) कर रहा है.

भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष गुरनाम सिंह ने बताया कि न्यूनतम समर्थन मूल्य, किसान कर्जा मुक्ति को लेकर पूरे देश में किसान आंदोलन कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि 19 तारीख को आंदोलन की रूपरेखा बनाकर 20 तारीख को सभी किसान रोड जाम करेंगे. वहीं 25 सितंबर को पूरा देश बंद किया जाएगा. हिसार धरने पर पहुंचे भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष गुरनाम सिंह का किसानों ने फूल माला पहनाकर स्वागत किया. वहीं केंद्र एवं हरियाणा सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी करते हुए  मुर्दाबाद के नारे लगाए.

चौटाला पर निशाना



दिग्विजय चौटाला के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष गुरनाम सिंह ने कहा कि चौटाला परिवार जो कह रहा है कि किसानों पर नहीं देवीलाल के परिवार पर लाठियां बरसाई है तो आंदोलन के दौरान पीपली में उन्हें तो कहीं पर भी देवीलाल के परिवार के सदस्य दिखाई नहीं दिए. गुरनाम सिंह ने कहा कि क्या वह कहीं छुप कर बैठे थे. यह सिर्फ राजनीतिक स्टंट है और उन्होंने उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला को भी आड़े हाथों लेते हुए कहा कि उन्हें अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए और किसानों के धरने का समर्थन करना चाहिए.


'विपक्ष बेवजह कर रहा हल्‍ला'

वहीं, भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ ने कृषि अध्यादेशों को लेकर स्थिति स्पष्ट की और कहा कि डंके की चोट पर मंडियों में ही फसल के दाने-दाने की खरीद होगी. इसके लिए मार्केट कमेटी के चेयरमैन की भी ड्यूटी लगाई गई है. फसल की एमएसपी पर खरीद हो इसलिए भारतीय जनता पार्टी किसानों के साथ खड़ी है. किसानों को किसी प्रकार की दिक्कत नहीं आने दी जाएगी.

ये भी पढ़ें: दिल्ली: IPL मैच के सट्टे में लगाए अपने अंकल के पैसे, हारा तो कर दिया लूट का फर्जी केस

ओपी धनखड़ चरखी दादरी में पीएम नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर आयोजित कार्यक्रम में पहुंचे और प्रेस वार्ता को संबोधित किया. धनखड़ ने कहा कि जो विपक्षी अध्यादेशों को लेकर सरकार के साथ थे, अब वे राजनीति के चक्कर में फंसकर बेवजह हो-हल्ला कर रहे हैं. सांसदों की कमेटी द्वारा किसानों से राय लेकर किसान संगठनों के साथ मिलकर केंद्रीय कृषि मंत्री से मिले हैं, जिन्होंने स्थिति स्पष्ट कर दी है कि किसानों की फसलें मंडियों में ही एमएसपी रेट पर खरीदी जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज