Home /News /haryana /

चाइल्ड पोर्नोग्राफी के मामले में CBI की हरियाणा के 4 शहरों में रेड, हिसार में एक युवक को नोटिस

चाइल्ड पोर्नोग्राफी के मामले में CBI की हरियाणा के 4 शहरों में रेड, हिसार में एक युवक को नोटिस

चाइल्ड पोर्नोग्राफी को लेकर सीबीआई ने देश के 14 राज्यों में 77 स्थानों पर छापामार कार्रवाई की है.

चाइल्ड पोर्नोग्राफी को लेकर सीबीआई ने देश के 14 राज्यों में 77 स्थानों पर छापामार कार्रवाई की है.

Child pornography News: हरियाणा के हिसार में चाइल्ड पोर्नोग्राफी (Child Pornography) का मामला सामने आया है. बच्चों के आपत्तिजनक वीडियो (Objectionable Video) बनाने और उन्हें शेयर करने के मामले में केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (CBI) 14 राज्यों में ताबड़तोड़ छापेमारी की है. इस कड़ी में CBI की एक टीम ने मंगलवार को हिसार में भी दबिश दी. CBI ने हरियाणा के तीन अन्य बड़े शहर यमुना नगर, पानीपत, सिरसा में भी तलाशी अभियान चलाया है. CBI को आज की कार्रवाई में बड़ी मात्रा में अलग अलग ठिकानों से गैजेट्स, पैन ड्राइव, लैपटॉप जब्त किए गए हैं, जिनसे बहुत सारे इलेक्ट्रॉनिक सबूत मिले हैं. इन सबूतों, शुरुआती पूछताछ व जांच में यह सामने आया है कि भारत से यह चाइल्ड पोर्नोग्राफी का नेटवर्क 100 देशों तक फैला हुआ है.

अधिक पढ़ें ...

    संदीप सैनी

    हिसार. हिसार में चाइल्ड पोर्नोग्राफी (Child Pornography) का मामला पहली बार राष्ट्रीय स्तर पर सामने आया है. दरअसल बच्चों के आपत्तिजनक वीडियो (Objectionable Video) बनाने और उन्हें शेयर करने के मामले में केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (CBI) 14 राज्यों में ताबड़तोड़ छापेमारी की है. इस कड़ी में CBI की टीम ने मंगलवार को हिसार में भी दबिश दी. CBI ने हरियाणा के तीन अन्य बड़े शहर यमुना नगर, पानीपत, सिरसा में भी दबिश दी है.

    हिसार की डिफेंस कालोनी और दो गांवों बासड़ा और सरसाना में दबिश दी गई है. CBI टीम दो गाड़ियों में सवार होकर यहां पहुंची थी, करीब 8 लाेगों की टीम छापेमारी के बाद शहर के एक होटल में कुछ देर ठहरी, इसके बाद यहां से रवाना हो गई. CBI ने गांव बासड़ा के सतकार नाम के एक युवक को नोटिस जारी कर पूछताछ के लिए मुख्यालय बुलाया है. इस युवक के पास से एक कंप्यूटर और लैपटाप भी जब्त किया है.

    CBI को हिसार के आइपी एड्रेस से इंटरनेट पर चाइल्ड पोर्नोग्राफी के सबूत मिले थे. हिसार में आईपी लिंक (IP Link) से बच्चों से जुड़ी अश्लील सामग्री इंटरनेट पर अपलोड कर दी गई थी. इसी बात की सूचना मिलने पर CBI ने आईपी एड्रेस के संचालनकर्ता का पता लगाकर हिसार में दबिश दी है. वहीं हिसार के साथ-साथ सिरसा और फतेहाबाद जिलों में भी कई जगहों पर सीबीआई ने दबिश दी. CBI ने सर्च अभियान के दौरान भारी मात्रा में इलेक्ट्रानिक गैजेट्स, मोबाइल, लैपटाप जब्त किए हैं.

    बड़े पैमाने पर मिले हैं इलेक्ट्रॉनिक सबूत

    CBI को आज की कार्रवाई में बड़ी मात्रा में अलग अलग ठिकानों से गैजेट्स, पैन ड्राइव, लैपटॉप जब्त किए गए हैं, जिनसे बहुत सारे इलेक्ट्रॉनिक सबूत मिले हैं. इन सबूतों, शुरुआती पूछताछ व जांच में यह सामने आया है कि भारत से यह चाइल्ड पोर्नोग्राफी का नेटवर्क 100 देशों तक फैला हुआ है. इस नेटवर्क में शामिल कुछ अन्य देशों के लोगों के नाम भी सामने आए हैं. अब तक तलाशी के दौरान, कई इलेक्ट्रानिक गैजेट्स/मोबाइल/लैपटाप आदि बरामद हुए है. यह पता चला है कि कुछ व्यक्ति सीएसईएम (CSEM)सामग्री के व्यापार में संलिप्त पाए गए है.

    14 राज्यों के 77 स्थानों पर CBI की तलाशी

    CBI टीमों ने तिरुपति, कनेकल (आंध्र प्रदेश), दिल्ली (19), कोंच-जालौन, मऊ, चन्दौली, वाराणसी, गाजीपुर, सिद्धार्थनगर, मुरादाबाद, नोएडा, झॉसी, गाज़ियाबाद, मुजफ्फरनगर (उत्तर प्रदेश), जूनागढ़, भावनगर, जामनगर (गुजरात), संगरुर, मलेरकोटला, होशियारपुर; पटियाला (पंजाब), पटना, सिवान (बिहार), यमुना नगर, पानीपत, सिरसा, हिसार (हरियाणा), भद्रक, जाजपुर, धेनकनाल (ओडिशा), त्रिरूवलूर, कोयम्बटूर, नमक्काल, सलेम, तिरुवन्नामलाई (तमिलनाडु), अजमेर, जयपुर, झुंनझुनु, नागौर (राजस्थान), ग्वालियर (मध्य प्रदेश), जलगॉव, सलवाड़, घुले (महाराष्ट्र), कोरबा (छत्तीसगढ़) तथा सोलन (हिमाचल प्रदेश) सहित देश भर के 14 राज्यों में स्थित आरोपियों के लगभग 77 स्थानों पर आज तलाशी की गई है.

    50 से ज्यादा समूह और 5 हजार से ज्यादा अपराधी संलिप्त

    गौरतलब है कि CBI की जांच में यह बात सामने आई थी कि चाइल्ड सेक्सुअल एक्सप्लायटेशन मैटेरियल की ट्रेडिंग में बहुत से लोग शामिल हैं. शुरुआती जांच में सामने आया है कि 50 से ज्यादा ग्रुप और 5000 से ज्यादा अपराधी चाइल्ड सेक्सुअल एब्यूस मैटेरियल शेयर करने में संलिप्त हैं. इन ग्रुपों में से अधिकतर में विदेशी नागरिक भी शामिल हैं.

    Tags: CBI Raid, Child sexual abuse, Haryana news, Supreme court of india

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर