मुश्किल में HIV पॉज़िटिव मरीज़, न परिवार के लोग साथ हैं न समाज

DEMO PIC

हिसार में ऐसे ही एक ज़िंदादिल शख्स हैं जो खुद HIV पॉज़िटिव होते हुए भी दूसरों की ज़िंदगियों में रोशनी करने में जुटे हुए हैं.

  • Share this:
अगर अपने आस-पास HIV  पॉज़िटिव मरीज़ के बारे में आपको पता चले तो आपकी प्रतिक्रिया क्या होगी. शायद एकबार आप सोचेंगे क्योंकि अमूमन यही सोच बनी हुई है कि HIV पॉज़िटिव मरीज़ से खतरा होता है. खतरा होता तो है लेकिन हम जिस तरीके से सोचते हैं वैसा नहीं है. खैर एक ओर जहां केंद्र सरकार ने ऐसे मरीज़ों के लिए मदद का हाथ आगे बढ़ाया है तो वहीं समाज इन्हें अपने से अभी भी दूर ही रखता है.

एड्स एक ऐसी बीमारी है जो इंसान को न सिर्फ शारीरिक तौर पर बल्कि मानसिक तौर पर भी तोड़कर रख देती है. ऐसे में HIV मरीज़ों की मायूसी लाज़मी है लेकिन इस मायूसी के बीच भी कुछ लोग जीने की चाह ज़िंदा रखे हुए हैं.

हिसार में ऐसे ही एक ज़िंदादिल शख्स हैं जो खुद HIV पॉज़िटिव होते हुए भी दूसरों की ज़िंदगियों में रोशनी करने में जुटे हुए हैं. किसी भी HIV पॉज़िटिव मरीज़ की मदद को वे हमेशा तत्पर रहते हैं. उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार द्वारा दवाईयां फ्री दी जा रही है. हरियाणा में करीब 50 हजार एड्स के मरीज हैं लेकिन प्रदेश सरकार द्वारा इनके लिए कुछ नहीं किया जा रहा है. राष्ट्रीय एड्स सोसायटी द्वारा एआरटी सेंटर पीजीआई रोहतक में स्थापित की गई है.

एचआईवी पोजिटिव दो महिलाओं से बात की गई तो उनका दर्द उनकी रुआंसी आवाज में छलक आया. उन्होंने बताया कि उनके पति की इस  बिमारी से मौत हो चुकी है. एचआईवी पोजिटिव के चलते  परिवार ने वास्ता रखना बंद कर दिया है. विधवा पेंशन से ही बच्चों को पाल व पढ़ा रही हैं.

केंद्र सरकार ने एचआईवी पोजिटिव लोगों के लिए अनेक स्कीमें चला रही है लेकिन प्रदेश सरकार द्वारा इनकी अनदेखी किए जाने से इन लोगों की हालत काफी दयनीय है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.