• Home
  • »
  • News
  • »
  • haryana
  • »
  • 8 साल बाद आया उपभोक्ता फोरम का फैसला, चिकित्सक पर लगाया लाखों का जुर्माना

8 साल बाद आया उपभोक्ता फोरम का फैसला, चिकित्सक पर लगाया लाखों का जुर्माना

लगभग 8 वर्ष पहले उपचार के दौरान हुई गर्भवती महिला नीतू कटारिया की मौत के मामले में जिला उपभोक्ता फोरम ने निजी अस्पताल की लापरवाही मानी है. मृतका के पति द्वारा जिला उपभोक्ता फोरम में याचिका दायर की गई थी.

लगभग 8 वर्ष पहले उपचार के दौरान हुई गर्भवती महिला नीतू कटारिया की मौत के मामले में जिला उपभोक्ता फोरम ने निजी अस्पताल की लापरवाही मानी है. मृतका के पति द्वारा जिला उपभोक्ता फोरम में याचिका दायर की गई थी.

लगभग 8 वर्ष पहले उपचार के दौरान हुई गर्भवती महिला नीतू कटारिया की मौत के मामले में जिला उपभोक्ता फोरम ने निजी अस्पताल की लापरवाही मानी है. मृतका के पति द्वारा जिला उपभोक्ता फोरम में याचिका दायर की गई थी.

  • Share this:
    लगभग 8 वर्ष पहले उपचार के दौरान हुई गर्भवती महिला नीतू कटारिया की मौत के मामले में जिला उपभोक्ता फोरम ने निजी अस्पताल की लापरवाही मानी है. मृतका के पति द्वारा जिला उपभोक्ता फोरम में याचिका दायर की गई थी.

    इस मामले में डॉ. मित्रा सक्सेना अस्पताल और यूनाइडेट इंडिया इंश्योरेंस कंपनी को पक्षकार बनाया था. उपभोक्ता फोरम ने पक्षकारों पर 5 लाख का हर्जाना लगाया है. हर्जाना राशि मृतका के परिजनों को देनी होगी.

    मृतका नीतू के परिजन के अनुसार वर्ष 2009 में इनकी पुत्रवधु को गर्भावस्था में रेवाड़ी  निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था जहां उसका लम्बा इलाज चला, लेकिन डिलीवरी के ऐन मौके पर अस्पताल की संचालिका महिला चिकित्सक ने उसे गुड़गांव रैफर कर दिया, जहां उसकी हालात बिगड़ गए और जच्चा-बच्चा दोनों की मौत हो गई.

    उसके बाद मृतका के परिजनों ने न्यायलय में उपरोक्त चिकित्सक के खिलाफ केस कर दिया. जिसका उपभोक्ता फोरम ने फैसला सुनाते हुए उपरोक्त चिकित्सक पर 5 लाख का जुर्माना लगाया है. मृतका के परिजनों का कहना है इन्हें पैसा नहीं न्याय चाहिए. इंसाफ के लिए अब उन्हें उच्च न्यायलय से उम्मीद है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज