हिसार: एक महीने में 93 गुना बढ़कर कोविड केस 4 से 379 पहुंचे, रिकवरी रेट 7 फीसद गिरा

हिसार में कोरोना के केस बढ़े

हिसार में कोरोना के केस बढ़े

COVID Cases in Hisar: हिसार में अबतक 4 लाख 10 हजार 41 लोगों की सैंपलिंग की जा चुकी है, जिनमें से कोरोना संक्रमण के 19 हजार 233 केस आ चुके हैं.

  • Share this:
हिसार. कोरोना के मामलों में इतनी तेजी से उछाल होगी यह किसी को पता नहीं था. वीरवार को हिसार जिला में सबसे अधिक 379 संक्रमित मिले हैं और दो लोगों की मृत्यु (Death) भी हुई है. इसमें कालीरावण निवासी 45 वर्षीय पुरुष तो हिसार निवासी 76 वर्षीय महिला का कोविड उपचार (COVID Treatment) के दौरान अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में देहांत हो गया. कोरोना की भयाभय स्थिति का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि पिछले एक माह में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा चार केस से बढ़कर 379 तक पहुंच गया. एक माह में कोरोना संक्रमितों में 93 गुना वृद्धि हुई है.

इसी प्रकार पूर्व में रिकवरी रेट 97.92 फीसद चल रहा था जो एक माह में सात फीसद घटकर 90.72 फीसद तक पहुंच गया है. सिर्फ यही नहीं बल्कि एक महीने में 15 मौत हो चुकी हैं जो हर दूसरे दिन एक मौत को दर्शा रही हैं. वहीं एक्टिव केसों में 53 गुना की वृद्धि हुई है. एक्टिव केस 27 से बढ़कर 1440 तक पहुंच गए हैं. यह आंकड़े दिखाते हैं कि हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं.

बढ़ते कोरोना प्रसार को लेकर वीरवार काे सीएम मनोहर लाल व स्वास्थ्य मंत्री अनिज विज ने उपायुक्तों व पुलिस अधीक्षकों के साथ बैठक लेकर सख्ती से नियमों का पालन कराने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने जिला की स्थिति व वैक्सिनेशन के कार्य को भी जाना.

अभी तक 345 लोग कोविड की वजह से गंवा चुके हैं जान
अभी तक जिले में 4 लाख 10 हजार 41 लोगों की सैंपलिंग की जा चुकी है, जिनमें से कोरोना संक्रमण के 19 हजार 233 केस आ चुके हैं. इनमें से 17 हजार 448 संक्रमित रिकवर हुए हैं. 345 कोरोना संक्रमितों की मृत्यु हुई है. जिले में कोरोना संक्रमण के 1440 मरीज उपचाराधीन हैं.

नाइट कर्फ्यू के पालन को गठित की 30 टीमें

उपायुक्त डा. प्रिंयका सोनी ने बताया कि अभी तक 1 लाख 21 हजार 539 लोगों को टीका देने का काम किया गया है. पहली डोज के तहत 109427 को व दूसरी डोज के तहत 12112 लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है. नाइट कर्फ्यू की दृढ़ता से पालना करवाने के लिए पुलिस विभाग की 30 टीमों का गठन किया गया है. जो अलग-अलग क्षेत्रों में भ्रमण कर नियमों को लागू कराएंगे. नियमों का पालन न करने वालों पर महामारी एक्ट में कार्रवाई भी की जाएगी.



रिकवरी रेट का गिरना ज्यादा चिंताजनक

ठीक 30 दिन पूर्व 15 मार्च के आंकड़ों में जिले का रिकवरी रेट 97.97 फीसद था. एक महीने के अंदर वायरस इतनी तेजी से बढ़ा कि रिकवरी रेट धड़ाम से 90.72 फीसद पर आ गया है. मात्र एक महीने के अंदर रिकवरी रेट में 7.2 फीसद की बड़ी गिरावट आने से स्वास्थ्य विभाग की चिंतित है.

लगातार 3 दिनों से मरीज 100 पार

पिछले तीन दिनों से हर रोज मिलने वाले कोरोना केस 100 से आंकडे़े से ऊपर हैं. अगर ये रफ्तार जारी रही तो स्थिति खराब हो सकती है. जिले की स्वास्थ्य सेवाएं लोगों के समूचित उपचार में कम पड़ने की संभावना है.

तारीख- पॉजिटिव केस- रिकवरी रेट- मौत- एक्टिव केस

15 मार्च- 4- 97.92- 330- 27

20 मार्च- 12- 97.67- 330- 72

25 मार्च- 16- 97.45- 332- 110

30 मार्च- 10- 97.19- 334- 156

5 अप्रैल- 49- 96.63- 338- 257

10 अप्रैल- 124- 94.81- 340- 601

15 अप्रैल- 379- 90.72- 345- 1440
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज