हिसार: दिवाली के दिन श्मशान घाट के चौकीदार की गला रेतकर हत्या, चारपाई पर पड़ा मिला शव

हिसार में चौकीदार की हत्या
हिसार में चौकीदार की हत्या

Murder in Hisar: मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारी ने बताया कि चौकीदार लक्ष्मण दास का शव श्मशान घाट के कमरे में चारपाई पर पड़ा मिला.

  • Share this:
हिसार. जिले के गांव गंगवा में स्थित श्मशान घाट में एक बुजुर्ग चौकीदार की अज्ञात कारणों के चलते हत्या कर दी गई. सूचना मिलते ही पुलिस दलबल के साथ मौके पर पहुंची. हिसार के प्रवर पुलिस अधीक्षक बलवान सिंह राणा और हिसार के डीएसपी (लॉ एंड आर्डर) जोगिंदर शर्मा भी मौके पर पहुंच गए और शव को कब्जे में लिया गया. पुलिस ने फिलहाल मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

डीएसपी जोगिंदर शर्मा ने बताया कि व्यक्ति की उम्र लगभग 65 साल है और वह श्मशान घाट में चौकीदार था. उन्होंने बताया कि सूचना मिलते ही पुलिस की टीम मौके पर पहुंच गई थी और हर दृष्टि से जांच की जा रही है. शर्मा ने बताया कि प्रथम दृष्टि से यह मर्डर का मामला लग रहा है और गले पर कुछ निशान भी पाए गए हैं. जोगिंदर शर्मा ने बताया कि शव को फिलहाल पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल भिजवा दिया गया है और कानूनी प्रक्रिया शुरू कर दी गई है.

बेटी के पति को प्रधान का आय़ा फोन
12 क्वार्टर रोड स्थित इंदिरा कॉलोनी निवासी अशोक कुमार ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उनकी शादी गंगवा निवासी लक्ष्मणदास की बेटी ललिता के साथ हुई है. उनके ससुर लक्ष्मणदास गंगवा के श्मशान घाट में पिछले दो साल से चौकीदार थे. वह श्मशान घाट में बने कमरे में ही रहते थे. अशोक ने बताया कि उनके पास 14 नवंबर की शाम 5.30 बजे सेक्टर 13 निवासी राजू अग्रवाल (श्मशान घाट गंगवा ट्रस्ट का प्रधान) है का फोन आया कि लक्ष्मण दास श्मशान घाट में बने कमरे में चारपाई पर पड़ा है और कमरा अंदर से बंद है और कमरे के बाहर ताला लगा हुआ है.
मोबाइल गायब


अशोक ने शिकायत में बताया कि फोन पर सूचना पाकर वह श्मशान घाट पहुंचा. उसे प्रधान राजू अग्रवाल और सरुपपुरा निवासी लाल बहादूर वहां मिले. उन दोनों के साथ मिलकर श्मशान घाट के कमरे के बाहर लगा ताला और कमरे के अंदर की कुंडी को तोड़ा तो उसका ससुर लक्ष्मण दास चारपाई पर पड़ा हुआ था. अशोक ने बताया कि उनके ससुर की गर्दन पर कट का निशान था. उनकी चारपाई पर उनका पर्स था जो खाली था और मोबाइल भी गायब था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज