VIDEO: रोड जाम कर रही महिलाओं की भीड़ में सूमो चालक ने घुसाई गाड़ी
Hisar News in Hindi

टाटा सूमो चालक ने गाड़ी निकालने के लिए महिलाओं से जाम हटाने की बात कही. जब महिलाओं ने जाम हटाने से इंकार किया तो सूमो चालक ने जबरन तेज गति से गाड़ी उनके बीच घुसा दी. गनीमत रही कि किसी ग्रामीण महिला को इस दौरान चोट नहीं आई.

  • Share this:
हरियाणा के हिसार जिले के हांसी उपमंडल के गांव हाजमपुर में बिजली और पानी की समस्या को लेकर तोशाम रोड जाम कर रही ग्रामीण महिलाओं पर एक सूमो चालक ने गाड़ी घुसा दी और पुलिस कर्मचारी मूकदर्शक बने देखते रहे. गनीमत रही कि जाम कर रही महिलाएं बाल-बाल बच गईं और किसी को चोट नहीं आई. आक्रोशित ग्रामीण महिलाओं ने सूमो पर पत्थरबाजी कर दी, जिसमें सूमो चालक गंभीर रूप से घायल हो गया. इसके बाद मौके पर पहुंचे सदर थाना प्रभारी ने सूमो चालक को कोई कार्रवाई करे बिना ही छोड़ दिया व ग्रामीण महिलाओं जबरन घरों में भेज दिया.

तोशाम रोड पर स्थित हाजमपुर गांव में सोमवार को सैकड़ों महिलाओं ने बिजली व पानी की समस्या को लेकर तोशाम रोड पर जाम लगा दिया. इस दौरान तोशाम रोड पर वाहनों की लंबी कतार लग गई. सूचना मिलने पर सदर थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और जाम खोलने के लिए ग्रामीण महिलाओं को समझाने का प्रयास किया, लेकिन महिलाओं ने जाम खोलने से इंकार कर दिया और कहा कि उनकी समस्याओं का समाधान होने तक वे जाम नहीं खोलने देंगी.

इसी दौरान एक टाटा सूमो चालक वहां आया और गाड़ी निकालने के लिए महिलाओं से जाम हटाने की बात कही. जब महिलाओं ने जाम हटाने से इंकार किया तो सूमो चालक ने जबरन तेज गति से गाड़ी उनके बीच घुसा दी. इस दौरान वहां मौजूद किसी पुलिसकर्मी ने टाटा सूमो चालक को रोकने की कोशिश नहीं की व सभी पुलिसकर्मी मूकदर्शक बने नजारा देखते रहे. इस दौरान वहां मौजूद सभी लोग हक्के-बक्के रह गए.



गनीमत रही कि किसी ग्रामीण महिला को इस दौरान चोट नहीं आई. लेकिन यह बड़ा सवाल है कि अगर गाड़ी के नीच आने से किसी महिला की मौत हो जाती तो इसका जिम्मेदार कौन होता? यहां तक कि पुलिस ने सूमो चालक पर कोई कार्रवाई नहीं की. जहां सैकड़ों ग्रामीण महिलाएं जाम कर रही थीं, वहां पुलिस अधिकारियों का इस प्रकार का गैर जिम्मेदार रवैया सवालों के घेरे में है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading