हरियाणा: शिक्षा विभाग के कर्मी को मोबाइल रिचार्ज करना पड़ महंगा, ठगों ने लगाई हजारों की चपत

शिभा विभाग के कर्मचारी को ठगों ने हजारों रुपये की चपत लगा दी.

Cyber Crime in Hisar: शिक्षा विभाग के कर्मी के साथ साइबर अपराधियों ने ठगी करते हुए कुल 95 हजार 900 रुपये खाते से निकाल लिए. इसके बाद पुनः उस नंबर पर संपर्क करने का प्रयास किया तो वह नंबर बंद मिला.

  • Share this:
हिसार. हांसी में शिक्षा विभाग (Education Department) के एक कर्मचारी को गलत मोबाइल नंबर पर रिचार्ज करना महंगा पड़ गया. कर्मचारी के खाते से ठगों ने चालबाजी करते हुए हजारों रुपये की चपत लगा दी. दरअसल, हिसार के मुजादपुर निवासी शिक्षा विभाग के कर्मचारी लीलूराम को अपना मोबाइल नंबर रिचार्ज (Mobile Recharge) करना था, लेकिन गलती से अन्य मोबाइल नंबर पर 399 रुपये का रिचार्ज हो गया. पुलिस को दी शिकायत में लीलूराम ने बताया कि उसने रिचार्ज की राशि रिफंड हेतु कस्टमर केयर (Customer Care) पर फोन किया, जहां से एक अन्य नंबर पर उसकी कॉल डायवर्ट कर दी गई.

आरोप है कि कस्टमर केयर पर कर्मचारी ने उसे मोबाइल में एनी-डेस्क (Any Desk) नाम से सॉफ्टवेयर (Software) डाउनलोड कर मैसेज करने के लिए कहा. इसके बाद उसे पांच अंकों का कोड बताने के लिए कहा और जैसे ही उसने कोड बताया तो खाते से 49 हजार 659 रुपये निकल गए. पहली बार उसे खाते से पैसे निकलने का पता नहीं चला. फिर से लीलूराम को एक कोड भेजा गया और कथित कस्टमर केयर कर्मी ने कोड पूछा. कोड बताने के बाद लीलूराम के खाते से 44 हजार 998 रुपये निकल गए.

केस दर्ज कर पुलिस ने शुरू की जांच
लीलूराम से तीसरी बार फिर से कोड पूछकर ठगों ने 1243 रुपये और धोखाधड़ी से निकालते हुए खाता निल कर दिया. आखिर लीलूराम को अहसास हुआ कि उसके साथ ठगी करते हुए कुल 95 हजार 900 रुपये खाते से निकाल लिए गए हैं. इसके बाद पुनः उस नंबर पर संपर्क करने का प्रयास किया तो वह नंबर बंद मिला. आखिर ठगी का शिकार हुए लीलूराम ने बैंक में संपर्क किया तो पूरा माजरा समझ आया. इस मामले में पुलिस ने अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरु कर दी है.

फिर से सक्रिय हुए ठग
दो साल पूर्व हांसी के इलाके में बैंक खातों में सेंधमारी करके ठगी करने वाला गिरोह अधिक सक्रिय था. साल 2019 के शुरुआती महीनों में ठगी के कई बड़े मामले सामने आए थे. जिला पुलिस की साइबर सेल ने कई मामलों में कार्रवाई करते हुए कई ठगों को गिरफ्तार किया था. ज्यादातर मामलों में ऑनलाइन ठगी अन्य प्रदेशों में बैठे ठगों द्वारा अंजाम देते हैं. इस कारण से कई बार पुलिस के लिए इन्हें पकड़ना बेहद मुश्किल होता है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.