हरियाणा के इस युवा किसान ने अवसर में बदला लॉकडाउन, रोजाना कमा रहा 15 हजार रुपए
Hisar News in Hindi

हरियाणा के इस युवा किसान ने अवसर में बदला लॉकडाउन, रोजाना कमा रहा 15 हजार रुपए
एमए पास किसान दरवेश भारत

सुरेवाला गांव का युवा किसान दरवेश भारत पढ़ा लिखा है और उसने पहले बहुत सारे शिक्षण सेंटर भी चलाए हैं. लेकिन अचानक से जब लॉकडाउन (Lockdown) शुरू हुआ तो उसने कुछ अलग करने की ठानी.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
हिसार. जब से देश में लॉकडाउन (Lockdown) का पहला चरण शुरू हुआ तब से वैश्विक महामारी कोरोना से बचने के लिए प्रत्येक व्यक्ति ने अपने आप को घरों में कैद कर लिया. वहीं हरियाणा का एक किसान (Farmer) ऐसा है जिसने अपने परिवार सहित अपने आप को खेतों में लॉकडाउन किया और उसका एक शानदार परिणाम यह निकला कि लॉकडाउन के चौथे चरण के समाप्त होते-होते ये एमए पास युवा किसान 15 हजार रुपए रोजाना कमाने लगा है.

जिला हिसार के गांव सुरेवाला में एक एमए इंग्लिश पास युवा जिसका नाम दरवेश भारत है, ने परंपरागत खेती को छोड़कर आधुनिक खेती अपनाने का निर्णय लिया. इस युवा के सामने नौकरी करने के साथ-साथ विदेश में जाने के भी अवसर थे, लेकिन उसने अपने देश में रहकर ही कमाई करने की ठानी. साथ ही देशवासियों के लिए स्वस्थ, साफ सब्जियां और फल देने का भी संकल्प लिया. जिसके चलते उसने अपने खेत में पॉली हाउस बनाया और उसके साथ अन्य फल और सब्जियों की खेती शुरू कर दी. जिसका शानदार परिणाम यह निकला कि अब किसान दरवेश भारत हर रोज 15 हजार रुपए के फल और सब्जियां बेच रहा है.

लॉकडाउन में कुछ अलग करने की ठानी



सुरेवाला गांव का युवा किसान दरवेश भारत पढ़ा लिखा है और उसने पहले बहुत सारे शिक्षण सेंटर भी चलाए हैं. लेकिन अचानक से जब लॉकडाउन शुरू हुआ तो उसने कुछ अलग करने की ठानी. उसने अपने खेत में पॉलीहाउस लगाया और उसके साथ फल व सब्जियां की बिजाई की. आज क्षेत्र में दरवेश भारत का नाम है और लोग स्वयं दस-दस, बीस-बीस किलोमीटर चलकर उसके खेत से हरी सब्जियां और फल लेने आते हैं.



किसान के पास कुल 9 एकड़ जमीन

दरवेश भारत के पास कुल 9 एकड़ जमीन है जिसमें से उसने 7 एकड़ जमीन में फल एवं सब्जियां लगाई हुई हैं. आज के समय में उसके पास तरबूज, खरबूजा, हरी घिया (लोकी) हरी मिर्च, तोरी, खीरा, टमाटर सहित सभी प्रकार की सब्जियां अब बिक्री में आ रही हैं. इसके अलावा 2 एकड़ में इन्होंने बागवानी भी शुरू की हुई है जो लगभग दो-तीन वर्ष में फल देना भी शुरू कर देगी. बागवानी में दरवेश भारत ने किन्नू और आडू जैसे फलों के भगवानी तैयार की है.

किसानों को दी ये राय

युवाओं को संदेश देते हुए दरवेश भारत ने कहा कि हमें परंपरागत खेती को छोड़कर आधुनिक खेती को अपनाना पड़ेगा, तभी किसान आगे बढ़ पाएगा. आज के हालात में किसान की दशा बहुत ही दयनीय है. अगर देश के युवा साथी नौकरी और रोजगार की होड़ को छोड़कर आधुनिक खेती के व्यवसाय को तरीके से अपनाएं तो सरकारी नौकरी या प्राइवेट नौकरी से अधिक वह अपने खेतों में कमा सकते हैं.

ये भी पढ़ें-

लॉकडाउन में क्रिकेट खेलने हरियाणा पहुंचे दिल्ली BJP प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी

चंडीगढ़ में कोरोना से चौथी मौत, 3 दिन की बच्ची ने तोड़ा दम
First published: May 26, 2020, 11:52 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading