हिसार : पुलिस से समझौता, अब रिहा किए जाएंगे खट्टर के विरोध के दौरान गिरफ्तार किसान

किसानों को छुड़वाने की मांग के साथ सैंकड़ों किसान हिसार रेंज के आईजी आवास पर पहुंच गए थे.

हिसार रेंज के आईजी और जिला उपायुक्त के साथ किसानों की बैठक हुई. तय हुआ कि कोई पक्ष मामला दर्ज नहीं कराएगा. किसान रिहा किए जाएंगे. सोमवार को होने वाले पुलिस स्टेशनों के घेराव का कार्यक्रम रद्द. राकेश टिकैत ने कहा कि हरियाणा व अन्य जगह बंद हाइवे खोल दिए जाएंगे.

  • Share this:
हांसी. पुलिस व किसानों के बीच भिड़ंत के मुद्दे पर हिसार में आज यानी रविवार सुबह किसानों की 11 सदस्यीय कमेटी और हिसार रेंज के आईजी व जिला उपायुक्त के बीच हुई बैठक में दोनों पक्षों में समझौता हो गया. दोनों पक्षों ने फैसला किया कि एक दूसरे के खिलाफ कोई भी केस दर्ज नहीं करवाएगा. जो किसान गिरफ्तार किए गए हैं, उन्हें रिहा किया जाएगा. इस समझौते को देखते हुए किसानों के द्वारा सोमवार को पूरे हरियाणा में सभी पुलिस स्टेशन का घेराव करने का कार्यक्रम रद्द कर दिया गया है और राकेश टिकैत ने कहा कि पूरे हरियाणा व अन्य जगह बंद हाइवे खोल दिए जाएंगे.

आपको याद दिला दें कि हिसार में ओपी जिंदल स्कूल में बने अस्थाई कोविड अस्पताल के उद्घाटन समारोह में सीएम मनोहर लाल खट्टर आए थे. सीएम का विरोध करने पहुंचे किसान आंदोलनकारियों व पुलिस के बीच टकराव हुआ था. इसके बाद कई किसान गिरफ्तार कर लिए गए थे. इन किसानों को छुड़वाने की मांग के साथ सैंकड़ों किसान हिसार रेंज के आईजी आवास पर पहुंच गए थे. भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष गुरनाम सिंह चड़ूनी के नेतृत्व में ये किसान आईजी आवास के बाहर लगातार नारेबाजी करते हुए डेरा जमाकर बैठ गए थे. उनकी मांग थी कि जब तक किसानों पर लाठीचार्ज करने वाले पुलिसवालों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होती और जब तक गिरफ्तार किसानों को रिहा नहीं किया जाता, तब तक वे यहां से जाने वाले नहीं हैंं.

किसानों के प्रदर्शन व धरना को देखते हुए आईजी आवास के बाहर भारी पुलिस बल तैनात किया गया था. आईजी की सुरक्षा के मद्देनजर बैरिकेडिंग कर दी गई थी. लेकिन हिसार में आज सुबह पुलिस व किसानों के बीच भिड़ंत के मुद्दे पर किसानों की 11 सदस्य कमेटी और हिसार रेंज के आईजी व जिला उपायुक्त के बीच हुई बैठक में दोनों पक्षों में समझौता हो गया.