मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के काफिले को किसानों ने दिखाए काले झंडे, दी यह चेतावनी

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के काफिले को रामायण टोल प्लाजा पर किसानों ने दिखाए काले झंडे.

मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के काफिले को रामायण टोल प्लाजा पर किसानों ने दिखाए काले झंडे.

मुख्यमंत्री मनोहर लाल का फतेहाबाद में कार्यक्रम था. किसानों को जैसे ही मुख्यमंत्री के फतेहाबाद में कार्यक्रम की भनक लगी तो उन्होंने रामायण टोल प्लाजा पर जमा होकर उन्हें काले झंडे दिखाए.

  • Share this:
हांसी. मुख्यमंत्री मनोहर लाल ( Manohar Lal Khattar) के काफिले को सोमवार को रामायण टोल प्लाजा ( Ramayan Toll Plaza ) पर किसानों ने काले झंडे दिखाकर अपना विरोध प्रकट किया. बता दें कि मुख्यमंत्रीका फतेहाबाद  में कार्यक्रम था. किसानों को जैसे ही मुख्यमंत्री के फतेहाबाद में कार्यक्रम की भनक लगी तो किसान रामायण टोल प्लाजा पर जमा हो गये और मुख्यमंत्री के आगमन का इंतजार करते रहे. शाम 6 बजे मुख्यमंत्री के काफिले के रामायण टोल प्लाजा पर पहुंचते ही किसानों ने किसान यूनियन के जिला अध्यक्ष कुलदीप खरड़ के नेतृत्व में काले झंडे दिखाकर रोष व्यक्त किया.

सीएम के काफिले में सिर्फ उनकी गाड़ि‍यां ही शामिल थीं. मुख्यमंत्री का कार्यक्रम तो हेलीकॉप्टर से जाने का था. जिला अध्यक्ष कुलदीप खरड़ ने कहा कि यदि मुख्यमंत्री में हिम्मत है तो वह सड़क के रास्ते से निकल कर दिखाएं उन्हें किसानों की ताकत का पता लग जाएगा. उन्होंने कहा कि सरकार किसानों को गिरफ्तार करवाकर उन्हें डरा नहीं सकती. साथ ही कहा कि किसान, मजदूर व कमेरा वर्ग के लोगों के काम धंधे चौपट हो गए हैं.

उन्होंने कहा कि अब सरकार फिर से लॉकडाउन लगाकर लोगों को बर्बाद करने का काम करने में लगी हुई है. सरकार सिर्फ गरीब लोगों के चालान काटने पर तुली हुई है. खरड़ ने कहा कि जब तक तीनों कृषि कानूनों को रद्द नहीं किया जाता किसानों का आंदोलन जारी रहेगा. चाहे यह आंदोलन कितना ही लंबा क्यों न चले, लेकिन इसे किया जाएगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज