हरियाणा शिक्षा बोर्ड का अजीबो-गरीब कारनामा, पास बच्चों को महीनों बाद दिखाया फेल

प्रदर्शन करते छात्र और अभिभावक
प्रदर्शन करते छात्र और अभिभावक

Haryana Board Results: हिसार के दौलतपुर राजकीय उच्च विद्यालय की 10वीं कक्षा के विद्यार्थियों का मामला. राजकीय उच्च विद्यालय में मार्च 2020 में दसवीं कक्षा के लिए 59 छात्र छात्राओं ने परीक्षा दी थी, जिनके रिजल्ट में अब गड़बड़ी बताई जा रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 19, 2020, 2:18 PM IST
  • Share this:
हिसार. हरियाणा शिक्षा बोर्ड (Haryana Education Board) का एक अजीबोगरीब कारनामा देखने को मिला है. जिला हिसार खंड के उकलाना के गांव दौलतपुर के राजकीय उच्च विद्यालय में 10वीं कक्षा के 25 छात्र-छात्राओं को महीनों बाद पास से फेल और कंपार्टमेंट तथा कम अंक दिखाने का मामला सामने आया है. बता दें कि दौलतपुर के राजकीय उच्च विद्यालय में मार्च 2020 में परीक्षा देने के लिए कुल 59 छात्र-छात्राएं बैठे थे, जिसमें से अब 25 पास हो चुके छात्र-छात्राओं को फेल कर दिया गया है.

दौलतपुर राजकीय उच्च विद्यालय स्कूल के 25 छात्र-छात्राओं को पास से फेल (Haryana Board Results) दिखाने का विरोध शुरू हो गया है. स्कूल के छात्र-छात्राओं एवं उनके अभिभावकों ने स्कूल गेट के सामने जमकर हरियाणा शिक्षा बोर्ड भिवानी के चेयरमैन, शिक्षा मंत्री हरियाणा और मुख्यमंत्री के खिलाफ नारेबाजी की.

यह है मामला
खंड उकलाना के दौलतपुर गांव के राजकीय उच्च विद्यालय में मार्च 2020 में दसवीं कक्षा के लिए 59 छात्र छात्राओं ने परीक्षा दी थी. इसका परिणाम जून 2020 में घोषित किया गया. इस परीक्षा परिणाम में जो बच्चे पास हुए थे, उनमें से 25 छात्र-छात्राओं को हरियाणा शिक्षा बोर्ड भिवानी द्वारा 16 अक्टूबर 2020 को जारी एक पत्र में फेल और कंपार्टमेंट दिखाकर उन्हें अपनी डीएमसी जमा करवाने का आदेश दिया गया. जिससे छात्र-छात्राओं में रोष फैल गया और उन्होंने सरकार एवं बोर्ड के खिलाफ जमकर मुर्दाबाद के नारे लगाए.
इस प्रकार आया दोबारा परिणाम


जून 2020 में जो परीक्षा परिणाम हरियाणा शिक्षा बोर्ड भिवानी द्वारा जारी किया गया था, उसमें 25 छात्र-छात्राओं का अब 16 अक्टूबर 2020 को दोबारा से परीक्षा परिणाम एक पत्र द्वारा घोषित किया गया. इसमें 10 छात्र-छात्राओं के नंबर कम कर दिए गए. वहीं पास हो चुके 10 विद्यार्थियों को फेल कर दिया गया. इसमें 4 ऐसे छात्र-छात्राएं हैं जिनका पहले एक सब्जेक्ट में कंपार्टमेंट था उन्हें अब फेल कर दिया गया है. वहीं एक छात्र पहले जो फेल था उसका कंपार्टमेंट दिखाया गया है.

राजकीय उच्च विद्यालय दौलतपुर के हेडमास्टर चरणजीत सरदाना ने जानकारी देते हुए बताया कि उन्हें 10 अक्टूबर शुक्रवार को हरियाणा शिक्षा बोर्ड भिवानी द्वारा एक पत्र जारी हुआ जिसमें उन्हें 25 छात्र-छात्राओं का दोबारा से परिणाम बताया गया. जिसमें बच्चों की डीएमसी दोबारा जमा करवाने के आदेश भी दिए गए. उन्होंने इसकी जानकारी अभिभावकों एवं छात्र छात्राओं को दी. जिससे उनका जो अब परीक्षा परिणाम घोषित हुआ है पहले की डीएमसी जमा करके नए परीक्षा परिणाम के अनुसार उन्हें कार्रवाई करनी होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज