हरियाणवी सिंगर शीनम कैथोलिक ने रिटायर्ड फौजी से गाड़ी और नकदी लूटी! पुलिस ने दर्ज किया मामला

शीनम कैथोलिक हरियाणवी सिंगर हैं.

शीनम कैथोलिक हरियाणवी सिंगर हैं.

हरियाणवी सिंगर शीनम कैथोलिक (Haryanvi singer Sheenam Katholic) पर बीएसएफ से सेवानिवृत फौजी ने लूटपाट का मामला दर्ज कराया है. इसके बाद पुलिस मामले की जांच में जुट गई है.

  • Share this:
हिसार. हरियाणवी सिंगर शीनम कैथोलिक (Haryanvi singer Sheenam Katholic) पर दो युवकों के साथ मिलकर गाड़ी मालिक के साथ मारपीट करने, गाड़ी और नकदी लूटने का आरोप लगा है. इस मामले में भिवानी के गांव बापौला निवासी धर्मपाल ने सदर थाना पुलिस (Sadar Police Station) को शिकायत दी है. शिकायत में बताया कि वह बीएसएफ से सेवानिवृत है और उसके पास एक गाड़ी है, जिसको कभी-कभी बुकिंग पर ले जाता है. साथ ही उसने बताया कि उसकी हरियाणवी सिंगर शीनम कैथोलिक से पिछले करीब तीन सालों से जान-पहचान है. 19 मार्च की शाम 6.30 बजे उसके पास शीनम कैथोलिक ने फोन कर कहा कि उसे सालासर जाना है. धर्मपाल ने बताया कि उसने शीनम को गाड़ी बुकिंग के लिए मना कर दिया. इसके करीब 25 मिनट बाद दोबारा शीनम ने उसे फोन किया और अच्छी बुकिंग होने की बात कहीं तो वह उसके साथ जाने के लिए राजी हो गया.

इसके साथ धर्मपाल ने बताया शीनम के बुलाने पर वह बुकिंग के लिए उसके पास जाने लगा तो रास्ते में कई बार हरियाणवी सिंगर ने लोकेशन पूछने के लिए फोन किया. शीनम के कहने पर वह अपनी गाड़ी लेकर एचएयू गेट नंबर चार के सामने पहुंचा और वह वहां पहले से खड़ी थी. इसके बाद शीनम उसके साथ गाड़ी में सवार हो गई और उसने कहा कि सवारी आगे मिलेगी.

फिर जो हुआ....

धर्मपाल ने बताया कि उसे शीनम ने एक पेय पदार्थ पीने के लिए दिया, जिससे उसका सिर चकराने लगा. इसके बाद आगे जाकर उसने उसे एक दुकान पर ड्रिंक लेने के लिए भेजा. वह दुकान से वापस आया तो शीनम उसे अपनी गाड़ी की ड्राइवर सीट पर बैठी मिली. उसने मना किया तो शीनम ने गाड़ी चलाने की जिद की, जिसके बाद शीनम उसे राजगढ़ रोड पर हिसार की तरफ ले गई. उस दौरान शीनम कैथोलिक लगातार किसी से फोन पर बात करती रही. धर्मपाल ने बताया कि इसके बाद शीनम गाड़ी को आधार अस्पताल की तरफ ले गई. उस दौरान उसने फोन पर किसी को आधार अस्पताल के नजदीक बुलाया. इसके बाद वहां पर एक बाइक पर सवार दो नकाबपोश युवक आए. शीनम उसकी गाड़ी को बाइक सवार युवकों के पीछे चलाती रही. धर्मपाल ने कहा, 'जब शीनम से मैंने पूछा कि कहां जा रहे तो उसने किसी से रुपये लेने की बात कही, लेकिन उसने बाइक सवार युवकों के पीछे-पीछे साउथ बाईपास के साथ लगते खेतों में कच्चे रास्ते पर ले जाकर गाड़ी रोक दी.'
लूटपाट का शिकार होने वाले धर्मपाल का आरोप है कि वहां बाइक सवार नकाबपोश युवकों ने उसे गाड़ी से बाहर निकाल कर उसके साथ मारपीट की. उनमें से एक युवक ने पिस्तौल निकाल कर उस पर तान दी तो उस दौरान उसने खेतों में भागकर अपनी जान बचाई. उसने बताया कि कुछ दूरी पर जाकर देखा तो आरोपित युवक उसकी गाड़ी को वहां से ले गए. धर्मपाल का आरोप है कि उसकी गाड़ी में उसका पर्स था, जिसमें 6 हजार रुपये और दस्तावेज थे. यही नहीं, उसने कुछ दूरी पर जाकर इस बारे में पुलिस को 100 नंबर पर सूचना दी. पुलिस ने शिकायत पर आरोपियों के खिलाफ धारा 392 और आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज